स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सरकारी डॉक्टर ने ली 40 हजार फीस, किशोर की मौत

Anoop Singh

Publish: Oct 17, 2019 02:07 AM | Updated: Oct 17, 2019 02:07 AM

Jaipur

कलक्टर ने की चिकित्सक को निलंबित करने की सिफारिश

महुवा.
सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी के निवास पर इलाज के दौरान एक किशोर की मौत हो जाने से गुस्साए परिजनों ने बुधवार को जमकर हंगामा किया। परिजनों का आरोप है कि डॉक्टर ने 40 हजार रुपए की फीस भी ली लेकिन उपचार में लापरवाही बरती। इसके चलते 16 वर्षीय किशोर की मौत हो गई। घटना को लेकर मृतक के पिता ने थाने में मामला दर्ज कराया है। उधर, चिकित्सक ने आरोप को निराधार बताया है। दौसा कलक्टर ने चिकित्सक के निलंबन की सिफारिश की है।
महुआ थाना प्रभारी करण सिंह राठौड़ ने बताया कि हिण्डौन के सिंघान निवासी सुमेरा शर्मा ने मामला दर्ज करा बताया कि मंगलवार को उसके बेटे शिवकांत शर्मा (16) को बुखार आया था। जिसे लेकर वह राजकीय अस्पताल में इलाज कराने गया। इस दौरान डॉ. दिनेश मीणा ने शिवकांत का इलाज प्रारंभ किया और बाद में इंफेक्शन का खतरा बताते हुए मरीज को घर लाने को कहा। घर पर उन्होंने 40 हजार रुपए फीस जमा करा दी। इलाज के बावजूद बालक को कोई फायदा नहीं हुआ। सुबह बच्चे की धड़कन नहीं आ रही थी। चिकित्सक एंबुलेंस बुलाकर मरीज को दौसा के लिए रवाना हुए। महुवा बायपास पर चिकित्सक एम्बुलेंस से उतर गया। बच्चे को लेकर चिकित्सक के घर पहुंचे तो चिकित्सक ने कहा कि बालक की मौत हो गई है। इसे घर ले जाओ।
चिकित्सक के घर शव रखकर किया हंगामा
परिजनों ने चिकित्सक के घर पर शव रखकर हंगामा किया। महुवा और सलेमपुर थाना पुलिस जाप्ता मौके पर तैनात रहा। घटना के बाद उपखंड अधिकारी रतनलाल योगी, जिला चिकित्सा अधिकारी एवं ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी सहित तहसीलदार मौके पर पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों व परिजनों से समझाइश की। दोपहर बाद पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सौंप दिया।