स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

फेसबुक पर दोस्त बनाकर होटल मैनेजमेंट की छात्रा को किया गर्भवती, अब भुगतनी होगी ऐसी सजा

Dinesh Saini

Publish: Jan 25, 2020 11:28 AM | Updated: Jan 25, 2020 11:28 AM

Jaipur

फेसबुक से मित्र ( Facebook Friend ) बनी युवती से बलात्कार ( Girl Rape ) के पांच साल पुराने मामले में अदालत ने अभियुक्त उदयपुरवाटी झुंझुनूं निवासी विकास कुमार मेघवाल को दस साल कैद की सजा सुनाई है...

जयपुर। फेसबुक से मित्र ( Facebook Friend ) बनी युवती से बलात्कार ( Girl Rape ) के पांच साल पुराने मामले में अदालत ने अभियुक्त उदयपुरवाटी झुंझुनूं निवासी विकास कुमार मेघवाल को दस साल कैद की सजा सुनाई है। पोक्सो मामलों की विशेष अदालत में सुनवाई के दौरान अभियोजन पक्ष ने 8 गवाहों के बयान कराए।

झांसा देकर बुलाया परिचित के घर फिर किया बलात्कार
मामले में कोर्ट को बताया कि अभियुक्त ने 17 वर्षीय पीडि़ता से पहले फेसबुक पर दोस्ती की। फिर 6 जून 2014 को उसे झांसा देकर अपने परिचित के घर बुलाया और उसके साथ बलात्कार किया।

चिकित्सीय जांच में आई गर्भवती
पीडि़ता होटल मैनेजमेंट की छात्रा है। पीडि़ता की तबीयत खराब होने पर परिजनों ने उसकी चिकित्सीय जांच कराई। तो हर कोई हक्का बक्का रह गया। जांच में पता चला कि वह 11 सप्ताह 5 दिन की गर्भवती है। बाद में पीडि़ता ने आपबीती बताई तो परिजनों ने 24 अगस्त को गांधीनगर थाने में बलात्कार का मामला दर्ज कराया था।


वहीं एक दूसरे मामले में राजधानी के प्रतापनगर इलाके में गुरुवार को युवती को घर में अकेली देख मिलने आए परिचित ने पहले बलात्कार किया। इतना ही नहीं इसके बाद उसे गालियां देता हुआ लौट गया। मामला सामने आने के बाद पुलिस जांच में जुट गई है। थानाधिकारी पुरुषोत्तम मेहरिया ने बताया कि जगतपुरा निवासी 22 वर्षीय युवती ने मामला दर्ज कराया है। आरोप है कि किशन चौधरी निवासी सीतापुरा उसका परिचित है। गुरुवार को वह घर पर अकेली थी, इस दौरान आरोपी किशन चौधरी आया। घर में अकेला होने का पता चलने पर अंदर घुस आया और उसके साथ बलात्कार कर जातिसूचक शब्द बोले।

थानाधिकारी पुरूषोत्तम मेहरिया का कहना है कि पीडि़ता की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज किया। पुलिस ने शुक्रवार को पीडि़ता का मेडिकल करवाकर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है। उल्लेखनीय है कि पुलिस जांच में कई दफा लेन देन का मामला निकलता है। इतना ही नहीं कई ऐसे मामले सामने आए है जिसमें ब्लैकमेलिंग के लिए भी इस तरह से बलात्कार के मुकदमें दर्ज कराए जाते है। फिलहाल पुलिस महिला का मेडिकल कराने के बाद और मजिस्ट्रेट के सामने बयान होने के बाद ही मामले में आगे कार्रवाई करेगी।

[MORE_ADVERTISE1]