स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शादी समारोह में वर—वधु पक्ष के लोगों ने एक दूसरे पर फेंकी कुर्सियां, खाने—पीने के सामान से खेली होली

RAJESH MEENA

Publish: Dec 11, 2019 10:44 AM | Updated: Dec 11, 2019 10:44 AM

Jaipur

शादी समारोह में वर—वधु पक्ष के लोगों ने एक दूसरे पर फेंकी कुर्सियां, खाने—पीने के सामान से खेली होली


fighting in wedding ceremony jaipur : जयपुर। बस्सी कस्बे में देर रात एक मैरिज गार्डन में हंगामा हो गया। दुल्हा पक्ष के कुछ लोग शराब पीकर ( drinking wine )रिसेप्शन में पहुंचे। किसी बात को लेकर उनकी दुल्हन पक्ष ( Bridegroom&Bride )के लोगों से कहासुनी ( fighting in wedding ceremony )हो गई। इसके बाद लोगों ने एक दूसरे पर कुर्सी, लाठी, सरिया और जो सामान हाथ लगा उसी से हमला कर दिया। इस झगड़े के बाद इस कार्याक्रम में खलबली मच गई।

कार्याक्रम में शरीक होने आए लोग किसी तरह अपनी जान बचाकर वहां से भाग निकले। झगड़े में दोनों पक्षों के आधा दर्जन लोग घायल हो गए। मामले की सूचना पर बस्सी थाना ( bassi thana police )पुलिस पहुंची और झगड़ा कर रहे लोगों को समझा—बुझाकर शांत किया। इस मामले में पुलिस ने तीन लोगों को अरेस्ट किया है। झगड़े में घायल लोगों का अस्पताल में उपचार जारी है। ( Rajasthan Police )

पुलिस के अनुसार बस्सी कस्बे में पंचौली पेट्रोल पम्प के पास स्थित मैरिज गार्डन में रात को एक शादी का रिसेप्शन चल रहा था। इसी दौरान दुल्हा पक्ष के कुछ लोग शराब पीकर वहां पर पहुंच गए । खाना खाने के दौरान दुल्हन पक्ष के लोगों से उनकी कहासुनी हो गई। कहासुनी ने झगड़े का रूप में ले लिया । मामला रात करीब साढ़े दस बजे का है। ( rajasthan news )


एसआइ ममता ने बताया कि इस मामले में झगड़ा कर रहे मुकेश, बबलू और छुटटन को शांति भंग में अरेस्ट किया है। ये सभी लोग दुल्हन पक्ष के है। झगड़े में तीन महिला व तीन—चार पुरूष घायल हो गए। घायलों का बस्सी के सरकारी अस्पताल में उपचार जारी है। अभी तक किसी भी पक्ष ने मामला दर्ज नहीं करवाया है। घायल लोगों के परिजनों आज दिन में रिपोर्ट देने की बात कहीं है। झगड़ा रिसेप्शन में दुल्हा के पक्ष के लोगों द्वारा शराब पीकर आने के बाद हुआ था। मामले की छानबीन की जा रही है। झगड़े के दौरान लोगों ने सारा सामान बिखेर दिया था। इससे पूरा कार्याक्रम बंद करना पड़ा था।

[MORE_ADVERTISE1]