स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ई-ऑक्शन ने भरी राजस्थान आवासन मंडल की तिजोरी

Ankit Dhaka

Publish: Nov 12, 2019 01:23 AM | Updated: Nov 12, 2019 01:23 AM

Jaipur

-7७० फ्लैट बेचकर कमाए 12६ करोड़ रुपए

जयपुर.
राजस्थान आवासन मंडल अपने ई-ऑक्शन से जम कर खजाना भर रहा है। अभी तक मंडल के खजाने में ७७० फ्लैट की नीलामी से १२६ करोड़ रुपए आ चुके हैं। मंडल अधिकारियों का कहना है कि धुआंधार प्रचार, फ्लैट लेने में परेशानी नहीं होने से लोग अपने घर का सपना साकार करने के लिए बढ़-चढ़ कर मंडल के ई-ऑक्शन में फ्लैट खरीदने में अपनी रुचि दिखा रहे हैं।

७७० फ्लैट की नीलामी, १२६ करोड़ की आय

मंडल के अधिकारियों के अनुसार मंडल ने ई-ऑक्शन ३० सितंबर को शुरू किया था। तब से अब तक ई-ऑक्शन के तीन चरण पूरे हो चुके हैं और चौथा चरण चल रहा है। अभी तक ७७० फ्लैट की नीलामी से १२६ करोड़ रुपए की आय हो चुकी है। अभी शेष बचे फ्लैट की नीलामी के लिए पांचवा चरण भी शुरू होगा। मंडल बचे हुए फ्लैट की नीलामी में तेजी लाने के लिए बाजार के हिसाब से भी रणनीति बना रहा है कि उच्च वर्ग, मध्य वर्ग और निम्न वर्ग की आवास की जरूरतें किस-किस तरह की हैं। मंडल आवास की नीलामी में २५ से ५० प्रतिशत तक की छूट भी दे रहा है। साथ ही आवासों पर पहली बार प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मिलने वाली सब्सिडी का लाभ भी दिया जा रहा है।

नीलामी में विदेशी खरीदार भी

आवासन मंडल के अधिकारियों के अनुसार मंडल की छूट के चलते देशभर के खरीदारों के साथ ही विदेशी खरीदार भी ई-ऑक्शन में भाग ले रहे हैं। अभी तक दुबई, वियतनाम और ताईवान जैसे देशों के खरीदारों ने आवासन मंडल के फ्लैटों की नीलामी भाग लिया है।

जो नहीं खरीद सके उनके लिए रिपीट ई-ऑक्शन कार्यक्रम

जानकारी के अनुसार मंडल जयपुर, अजमेर, नागौर, नसीराबाद, बीकानेर समेत कई शहरों में १३ से २२ नवंबर तक रिपीट ई-ऑक्शन कार्यक्रम भी लॉन्च करने जा रहा है। जिससे पहले हुए ऑक्शन में आवास से वंचित रहे लोगों के अपने आवास का सपना पूरा हो सके।

[MORE_ADVERTISE1]