स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

विभाग ने नहीं किया तो शिक्षिका ने खुद ही कर लिया अपना तबादला

vinod saini

Publish: Sep 21, 2019 01:05 AM | Updated: Sep 21, 2019 01:05 AM

Jaipur

तबादला (Transfer) कराने के लिए सरकारी कर्मचारी (Government employee) जहां अधिकारियों (officers) से लेकर नेताओं तक के चक्कर लगाते रहते हैं, वहीं एक शिक्षिका (Teacher) ने इन सबके झंझट में न पड़ते हुए स्वयं ने ही अपना तबादला कर लिया। मामला भीलवाड़ा की मांडल तहसील के जोरावरपुरा उच्च माध्यमिक विद्यालय में कार्यरत द्वितीय श्रेणी शिक्षिका (Second grade teacher) का है।

-फर्जीवाड़े का पता चलने पर शिक्षा विभाग ने किया निलंबित

जयपुर/भीलवाड़ा। तबादला (Transfer) कराने के लिए सरकारी कर्मचारी (Government employee) जहां अधिकारियों (officers) से लेकर नेताओं (Politician) तक के चक्कर लगाते रहते हैं, वहीं एक शिक्षिका (Teacher) ने इन सबके झंझट में न पड़ते हुए स्वयं ने ही अपना तबादला कर लिया। मामला भीलवाड़ा जिले की मांडल तहसील के जोरावरपुरा उच्च माध्यमिक विद्यालय में कार्यरत द्वितीय श्रेणी शिक्षिका (Second grade teacher) का है। शिक्षिका ने फर्जी आदेश (Fake order) तैयार कर अपना तबादला मानकरसर (श्रीगंगानगर) कर दिया। विभाग को पता चलने पर शिक्षिका को निलंबित (suspended) कर दिया गया है। हालांकि इस आदेश में एक और शिक्षक रामचंद्र मीणा का नाम भी शामिल है। मीणा का तबादला मानकरसर (श्रीगंगानगर) से जोरावरपुरा कर दिया गया है।
मांडल तहसील के जोरावरपुरा उच्च माध्यमिक विद्यालय में कार्यरत द्वितीय श्रेणी शिक्षिका नेहा ने शिक्षा विभाग के शासन उप सचिव डॉ. राष्ट्रदीप यादव के फर्जी हस्ताक्षर कर अपना तबादला मानकरसर (श्रीगंगानगर) कर दिया। पता चलने पर निदेशक के आदेश पर जिला शिक्षा अधिकारी मुख्यालय माध्यमिक ब्रह्माराम चौधरी ने अंग्रेजी विषय की शिक्षिका नेहा को निलम्बित कर दिया। निलम्बन काल में उसका मुख्यलाय मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी मांडल किया गया है। गत 5 सितंबर को डॉ. यादव के हस्ताक्षर से जारी आदेश जांच में फर्जी पाए जाने पर यह कार्रवाई की गई।

30 सितंबर से तबादलों पर रोक
जयपुर। राज्य सरकार ने एक आदेश जारी कर सरकारी अधिकारी-कर्मचारियों के तबादलों पर आगामी 30 सितंबर से रोक लगा दी है। अब सभी विभाग 29 सितंबर को रात 12 बजे तक ही तबादले कर पाएंगे। सरकार का यह आदेश सभी निगमों मंडलों और स्वायत्तशासी संस्थाओं पर लागू होगा। प्रदेश में इस वर्ष के अंत में स्थानीय निकाय और अगले वर्ष पंचायत चुनाव होने हैं।

जल्द आनी शुरू हो सकती हैं तबादला सूचियां
सरकार के इस आदेश के बाद अब माना जा रहा है कि तबादलों पर रोक की तारीख नजदीक आने के साथ ही सभी विभागों से बड़े स्तर पर तबादलों सूचियां आनी शुरू हो जाएंगी। सरकार ने जन घोषणाओं पर पूरा फोकस करने के लिए ये आदेश जारी किए हैं ताकि मंत्री तबादलों से ध्यान हटाकर जन घोषणाओं को पूरी करने पर ध्यान लगाएं।