स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

संवैधानिक मूल्यों को प्रतिबिंबित करने वाला हो फैसला: पक्षकार

Dhairya Kumar Mishra

Publish: Oct 22, 2019 01:18 AM | Updated: Oct 22, 2019 01:18 AM

Jaipur

अयोध्या विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी हो चुकी है। अब सभी पक्षों को इस मामले में फैसले का इंतजार है। फैसला 17 नवंबर तक आ सकता है, लेकिन उससे पहले सभी सातों मुस्लिम याचिकाकर्ताओं ने कोर्ट को याद दिलाया कि उनका फैसला किस तरह से नया इतिहास बना सकता है और किस तरह से इसका असर अगली पीढिय़ों पर पड़ेगा।

अयोध्या केस: सातों मुस्लिम पक्ष ने लगाई गुहार

नई दिल्ली. अयोध्या विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई पूरी हो चुकी है। अब सभी पक्षों को इस मामले में फैसले का इंतजार है। फैसला 17 नवंबर तक आ सकता है, लेकिन उससे पहले सभी सातों मुस्लिम याचिकाकर्ताओं ने कोर्ट को याद दिलाया कि उनका फैसला किस तरह से नया इतिहास बना सकता है और किस तरह से इसका असर अगली पीढिय़ों पर पड़ेगा।
अधिवकता राजीव धवन और अन्य वकीलों के जरिए मस्जिद के पक्षकारों ने कहा कि न्यायालय द्वारा निर्णय चाहे जो भी हो भविष्य की पीढिय़ों को प्रभावित करेगा। कोर्ट के इस फैसले से उन लाखों लोगों के दिमाग पर असर पड़ सकता है जो इस देश के नागरिक हैं और जो 26 जनवरी, 1950 को भारत को गणतंत्र घोषित किए जाने के बाद संवैधानिक मूल्यों को मानते हैं। फैसला संवैधानिक मूल्यों को प्रतिबिंबित करने वाला हो यह अदालत की जिम्मेदारी है। कोर्ट को सोचना होगा कि पीढिय़ां उसके फैसले को कैसे देखेंगी। संविधान पीठ ने संबंधित पक्षों को 'मोल्डिंग ऑफ रिलीफÓ (राहत में बदलाव) के मुद्दे पर लिखित दलील दाखिल करने के लिए तीन दिन का समय दिया था।

दोनों पक्षों ने दाखिल किए हैं लिखित नोट : हिंदू और मुस्लिम पक्षकारों ने शनिवार को शीर्ष अदालत में अपने लिखित नोट दाखिल किए। राम लला विचारमान के वकील ने कहा है कि इस विवादित स्थल पर हिंदू आदिकाल से पूजा कर रहे हैं। राम के जन्म स्थान से कोई समझौता नहीं किया जा सकता।

पुलिस ने जगह-जगह लगाए बैरियर : फैसला सुरक्षित रखने जान के बाद अयोध्या में सुरक्षा का जायजा लेने के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव, डीजीपी, एडिशनल चीफ सेक्रेटरी (लॉ एंड ऑर्डर) ने भी अयोध्या का दौरा किया है। अयोध्या में जगह-जगह पुलिस ने बैरियर लगा दिए हैं।