स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सांभर झील में प्रवासी पक्षियों की मौत पर हाईकोर्ट ने मांगा जवाब

Mukesh Sharma

Publish: Nov 13, 2019 21:12 PM | Updated: Nov 13, 2019 21:12 PM

Jaipur

Rajasthan highcourt हाईकोर्ट ने जयपुर के नजदीक (Sambhar Lake) सांभर झील में पिछले दिनों से लगातार (Migratory Birds) प्रवासी पक्षियों की रहस्यमयी तरीके से हो रही (Death) मौत को गंभीरता से लेकर स्व:प्रेरित प्रसंज्ञान लिया है।

जयपुर

अदालत ने राज्य के वन विभाग सहित सांभर साल्ट लिमिटेड से दो दिन में जवाब मांगा है कि सांभर झील में प्रवासी पक्षियों की मौत क्यों हो रही है। मुख्य न्यायाधीश इन्द्रजीत महांति और न्यायाधीश महेन्द्र गोयल की खंडपीठ ने यह अंतरिम निर्देश बुधवार को सांभर झील में प्रवासी पक्षियों की मौत मामले में दिया। अदालत ने अतिरिक्त महाधिवक्ता गणेश परिहार को 15 नवंबर तक जवाब पेश करने के निर्देश दिए हैं। उल्लेखनीय है कि पिछले दस दिनों के दौरान संाभर झील में बड़ी संख्या में प्रवासी पक्षी संदेहास्पद स्थिति में मरे पाए गए हैं। सरकारी सूत्रों के अनुसार सांभर झील में पिछले दिनों में 1500 प्रवासी पक्षियों की मौत होना बताया जा रहा है। हालांकि स्थानीय निवासियों के अनुसार यह संख्या कहीं ज्यादा है। अधिकांश पक्षी रतन तालाब के पास मृत पाए गए हैं। सर्दी के मौसम में हिमालय, साइबेरिया व नार्थ एशिया सहित अन्य देशों से प्रवासी पक्षी हजारों किलोमीटर का सफर तय करके हर साल सांभर झील में आते हैं और सर्दियों का मौसम खत्म होते ही वापिस चले जाते हैं।

[MORE_ADVERTISE1]