स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मौसमी एलर्जी से ऐसे बचें

Archana Kumawat

Publish: Nov 17, 2019 13:42 PM | Updated: Nov 17, 2019 13:42 PM

Jaipur

नियमित ग्रीन टी का सेवन करने से एलर्जी के लक्षणों को कम किया जा सकता है

एप्पल साइडर विनेगर
ए लर्जी दूर करने में एप्पल साइडर विनेगर बहुत कारगर उपाय है। यह कफ की समस्या को भी दूर करता है। एक गिलास गुनगुने पानी में एक बड़ा चम्मच एप्पल साइडर विनेगर मिलाकर उसमें थोड़ा सा शहद भी मिलाएं। इस पानी को दिन में तीन बार पीएं। यह कफ की समस्या से राहत देगा।

एंटी बैक्टीरियल है शहद
मौसमी बीमारियों से बचने के लिए शहद का नियमित उपयोग किया जाना चाहिए। शहद के एंटी बैक्टीरियल गुण रोगों से लडऩे की शक्ति देते हैं। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट्स की मात्रा भी अधिक होती है, जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाते हैं। शहद एक्जिमा की समस्या को भी दूर करता है।

प्रोबायोटिक्स
कई बार एलर्जी के लक्षण हमारे शरीर में इम्यून सिस्टम को असंतुलित कर देते हैं। प्रोबायोटिक्स हमारे डाइजेस्टिव ट्रेक में अच्छे बैक्टीरिया का स्तर बढ़ाने का काम करते हैं, जो हमारे इम्यून सिस्टम के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। प्रोबायोटिक्स के लिए अच्छा है कि आप फर्मेंटेड फूड खाएं। कुछ अध्ययनों से सामने आया कि प्रोबायोटिक्स एक्जिमा के लक्षणों को कम करते हैं। प्रोबायोटिक्स एवं एक्जिमा के संबंध में शोध चल रहे हैं।

डाइट में बदलाव लाएं
हमारा खानपान संपूर्ण स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। हेल्दी डाइट मूड को बेहतर बनाने के साथ ही अनिंद्रा की समस्या को भी दूर करती है। एनर्जी लेवल बढ़ाने के लिए भी हेल्दी डाइट पर फोकस करना जरूरी है। इस तरह जब आपकी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी एलर्जी संबंधी समस्याओं को भी कम किया जा सकता है।

हल्दी का सेवन करें
ए लर्जी के लक्षणों को कम करने के लिए एक कप पानी में आधा छोटा चम्मच हल्दी पाउडर और एक चुटकी कालीमिर्च एवं थोड़ा शहद मिलाकर सेवन करें। इस दूध का दिन में दो बार सेवन करें। हल्दी में एंटी बैक्टीरियल और एंटी इंफ्लेमेटरी प्रोपर्टीज होती हैं, जो डस्ट एलर्जी के लक्षणों को कम करती हैं।

एलोवेरा
एलोवेरा बहुत ही उपयोगी औषधि है। इसके एंटी बैक्टीरियल गुण एलर्जी की समस्या को दूर करने में बहुत लाभकारी हो सकते हैं। रोजाना चौथाई कप एलोवेरा जूस पीया जा सकता है। इसमें एनाल्जेसिक प्रॉपर्टीज होती हैं, जो सूजन और दर्द दूर करेगे। यह डस्ट एलर्जी के लक्षणों को कम करेगा। चिकित्सक की सलाह से ही इसका सेवन करें।

विटामिंस
विटामिन सी बहुत ही पावरफुल एंटी ऑक्सीडेंट्स हैं। यह मौसमी बीमारियों के लक्षणों को दूर करता है। यदि डाइट में कच्चे फल एवं हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन ज्यादा किया जाए तो कई तरह के विटामिन्स की पूर्ति की जा सकती है। विटामिन सी शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर संक्रमण से लडऩे की ताकत देता है।

पुदीना

एलर्जी से बचने के लिए दिन में तीन बार पुदीने की चाय का सेवन करें। पुदीने में एंटी इंफ्लेमेटरी और सर्दी-खांसी के लक्षणों को दूर करने का गुण होता है। पुदीना धूल और धूआं से होने वाली एलर्जी के लक्षणों को कम करता है। इसके अलावा आप नेटल लीफ टी का सेवन भी कर सकते हैं। इसकी एंटी हिस्टैमिन प्रॉपर्टीज भी एलर्जी की समस्या को दूर करने में कारगर हैं।

[MORE_ADVERTISE1]