स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कांग्रेस में निकाय चुनाव के लिए 'रणनीति '

Rahul Singh

Publish: Sep 21, 2019 12:28 PM | Updated: Sep 21, 2019 12:28 PM

Jaipur

निकाय चुनाव के लिए कांग्रेस अपनी रणनीति बनाने में जुट गई है। बैठक में कश्मीर में आर्टिकल 370 को लेकर जनता को सच्चाई बताने के लिए कार्यकर्ताओं से आहृवान किया गया। बैठक प्रदेश कांग्रेस कमेटी में बुलाई थी। इसमें जयपुर शहर कांग्रेस अध्यक्ष प्रताप सिंह खाचरियावास,कांग्रेस के प्रदेश सह प्रभारी विवेक बंसल, विधायक रफीक खान, गंगा देवी आदि थे। बैठक में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को नारा दिया गया कि जयपुर को जिताना है, नंबर वन बनाना है।

जयपुर। प्रदेश में निकाय चुनाव के लिए कांग्रेस अपनी रणनीति बनाने में जुट गई है। बैठक में कश्मीर में आर्टिकल 370 को लेकर जनता को सच्चाई बताने के लिए कार्यकर्ताओं से आहृवान किया गया। बैठक प्रदेश कांग्रेस कमेटी में बुलाई थी। इसमें जयपुर शहर कांग्रेस अध्यक्ष प्रताप सिंह खाचरियावास,कांग्रेस के प्रदेश सह प्रभारी विवेक बंसल, विधायक रफीक खान, गंगा देवी आदि थे। बैठक में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को नारा दिया गया कि जयपुर को जिताना है, नंबर वन बनाना है। बैठक में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को कश्मीर की आर्टिकल 370 के बारे में पूरी जानकारी दी गई और कार्यकर्ताओं को बताया गया कि किस तरह से इसको जनता के बारे में बताना है। इस मौके परिवहन व सैनिक कल्याण मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि भाजपा धारा 370 की आड़ में अपनी असफलताओं को छुपाकर देश की जनता के साथ धोखा कर रही है। आर्थिक मंदी के कारण भुखमरी, बेरोजगारी और आर्थिक संकट के हालत उत्पन्न हो गये हैं, आम आदमी दुखी और परेशान है। खाचरियावास ने कहा कि धारा 370 जिस वक्त लगाई गई, उस वक्त धारा 370(1) के जरिए पंडित नेहरू ने यह प्रावधान किया कि कश्मीर भारत का स्थाई रूप से अभिन्न अंग बना रहेगा। 22 अक्टूबर 1947 को पाकिस्तान की कबायली सेनाओं ने कश्मीर पर हमला कर दिया, उस वक्त कश्मीर के राजा हरि सिंह की फौजें पाकिस्तान की सेनाओं से लड़ रही थीं, आजादी के वक्त राजा हरि सिंह इस बात पर अड गए थे कि वो इसे अलग राष्ट्र बनायेंगे, कश्मीर भारत और पाकिस्तान में शामिल नहीं होगा, लेकिन जब पाकिस्तान ने हमला किया और राजा हरि सिंह की फौजे हारने लगी तो शेख अब्दुल्ला ने राजा हरि सिंह को सुझाव दिया कि वो पंडित नेहरू से बात करके भारतीय सेना की मदद लें, नहीं तो कश्मीर पर पाकिस्तान कब्जा कर लेगा। इसके बाद जब राजा हरि सिंह ने पंडित नेहरू से मदद मांगी तो पंडित नेहरू ने भारत की सेनाओं को कश्मीर भेजा, भारत की सेना ने पाकिस्तान की सेना को खदेड दिया। इसके बाद राजा हरि सिंह ने कहा कि हम भारत में आने को तैयार है लेकिन हमारी शर्तों पर आयेंगे। पंडित नेहरू ने धारा 370(1) में यह प्रावधान किया कि कश्मीर स्थाई रूप से भारत का अंग बना रहेगा। धारा 370 में दो जगह प्रावधान किया गया कि कश्मीरी नागरिकों की जमीनें भारत के अन्य राज्य का कोई भी हिन्दू-मुसलमान नहीं खरीद पायेगा, लेकिन यह सब अस्थाई रूप से लागू किये गये, इन्हें कभी भी परिवर्तित किया जा सकेगा। पंडित नेहरू ने जब यह प्रावधान लागू किया तब उन्होंने इसे अस्थाई रूप से लागू किया, क्योंकि उस वक्त कष्मीर को भारत में रखना जरूरी था, लेकिन कष्मीर को स्थाई रूप से भारत का अंग बना लिया। तब पंडित नेहरू ने कहा था कि धारा 370 अस्थाई रूप से लगाई गई है, यह अपने आप खत्म हो जायेगी।
उन्होंने कहा कि भाजपा धारा 370 पर असली बात लोगों के बीच में पहुंचाने की बजाय इसे राजनीतिक रंग देने के लिये गलत तरीके से लोगों के सामने प्रस्तुत करती है। आॅल इंडिया कांग्रेस कमेटी के सचिव विवेक बंसल ने कहा कि महात्मा गांधी की 150वी वर्षगांठ के अवसर पर महात्मा गांधी की नीतियों पर चलने के लिये कांग्रेस सभी जिलों में कार्यक्रम आयोजित करेगी तथा 2 अक्टूबर को राजधानी जयपुर में गांधी जयन्ती पर पदयात्रा निकाली जायेगी।