स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पंचायत चुनाव में ST-SC आरक्षण के फैसले को भुनाएगी भाजपा

Prakash Kumawat

Publish: Dec 06, 2019 17:57 PM | Updated: Dec 06, 2019 17:57 PM

Jaipur

केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा एससी—एसटी वर्ग का आरक्षण reservation of SC-ST class 10 वर्ष बढ़ाने के फैसले के बाद से भाजपा में उत्साह के साथ ही जोश का संचार हुआ है। हो भी क्यों नहीं, पंचायत चुनाव जो सिर पर हैं। पार्टी इस चुनाव में एससी—एसटी आरक्षण के मुद्दे को भुनाने की तैयारी में जुट गई है। इसके लिए पार्टी ने अनेक कार्यक्रम तय करने के साथ ही इन वर्गों में संपर्क की विशेष योजना भी बनाई गई है।

जयपुर
केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा एससी—एसटी वर्ग का आरक्षण reservation of SC-ST class 10 वर्ष बढ़ाने के फैसले के बाद से भाजपा में उत्साह के साथ ही जोश का संचार हुआ है। हो भी क्यों नहीं, पंचायत चुनाव जो सिर पर हैं। पार्टी इस चुनाव में एससी—एसटी आरक्षण के मुद्दे को भुनाने की तैयारी में जुट गई है। इसके लिए पार्टी ने अनेक कार्यक्रम तय करने के साथ ही इन वर्गों में संपर्क की विशेष योजना भी बनाई गई है।
भाजपा की ओर से मोदी सरकार के निर्णय पर आभार जताने के साथ ही इस वर्ग में संदेश देने के लिए शनिवार से आभार कार्यक्रमों की श्रंखला शुरु कर दी जाएगी। मोर्चा के प्रदेशाध्यक्ष रामकिशोर मीणा के अनुसार पीएम मोदी का आभार जताने के लिए भाजपा प्रदेश मुख्यालय पर 7 दिसम्बर को शाम को आतिशबाजी कर खुशी जाहिर करने के साथ ही मोदी को धन्यवाद ज्ञापित किया जाएगा। इसके बाद 9 दिसम्बर को पूरे प्रदेश में जिला स्तर पर कार्यक्रम होंगे, इसी तरह 10 दिसम्बर को मण्डल स्तर तथा 11 दिसम्बर को बूथ स्तर पर पीएम मोदी के आभार कार्यक्रम किए जाएंगे।

भाजपा नेताओं के अनुसार एससी—एसटी आरक्षण को लेकर कांग्रेस लगातार भ्रम फैलाती रही है। 2019 के लोकसभा चुनाव के ठीक पहले भी ऐसा ही भ्रम फैलाया था, जिसके बाद देशभर में एससी—एसटी वर्ग की प्रतिक्रिया जैसे ही सामने आई तो पीएम मोदी को आश्वासन देना पड़ा था कि आरक्षण से छेड़छाड़ नहीं होगी। बार बार उठ रहे इस मुद्दे पर विराम लगाने के लिए केन्द्र सरकार ने ST-SC वर्ग का आरक्षण 10 वर्ष बढ़ाने का निर्णय करके उसे अंजाम तक पहुंचा दिया। तो इसका लाभ भाजपा को मिलना ही चाहिए।
मोदी सरकार के फैसले का राजस्थान के पंचायत चुनाव में लाभ लेने के लिए भाजपा ने एससी—एसटी वर्ग के प्रबुद्ध लोगों से संपर्क की रणनीति बनाई है। इस वर्ग के लोगों के बीच संदेश देने की जिम्मेदारी पार्टी ने एससी और एसटी मोर्चा को सौंपी है। दोनों मोर्चा के पदाधिकारियों ने बैठक करके रणनीति भी तैयार कर ली है।

[MORE_ADVERTISE1]