स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जयपुर में एटीएम से छेड़छाड़, मुम्बई में बजा सायरन, लुटने से बचे लाखों रुपए

Dinesh Kumar Gautam

Publish: Nov 12, 2019 20:35 PM | Updated: Nov 12, 2019 20:35 PM

Jaipur

कंट्रोल रूम पर देर रात करीब साढ़े तीन बजे मुम्बई बैंक के हैडऑफिस से फोन आया कि बदमाश उसके निवारू रोड पर रिद्धि-सिद्धि के पास स्थित एटीएम मशीन को तोडऩे का प्रयास कर रहे

जयपुर Jaipur latest news के करधनी kardhani police station में स्थित एटीएम atm booth temparingमें देर रात बदमाशों ने छेड़छाड़ की। इस पर बैंक के मुम्बई स्थित हैडऑफिस में सायरन बज गया। बैंक प्रशासन की सूचना पर करधनी थाना पुलिस मौके पर पहुंची तो बदमाश वहां से भाग निकले। बैंक ऑफ बडौदा का यह एटीएम निवारू रोड पर लगा हुआ है।पुलिस के अनुसार पुलिस कंट्रोल रूम पर देर रात करीब साढ़े तीन बजे मुम्बई बैंक के हैडऑफिस से फोन आया कि बदमाश उसके निवारू रोड पर रिद्धि-सिद्धि के पास स्थित एटीएम मशीन को तोडऩे का प्रयास कर रहे है। कंट्रोल रूम की सूचना पर गश्त में तैनात थानाधिकारी राम किशन बिश्नाई मौके पर पहुंचे तो बदमाश वहां से भाग निकले। बदमाशों ने एटीएम में कैश बॉक्स के ऊपर लगे कवर को तोड़ दिया था।

-सीसीटीवी कैमरे कैद सारी घटना......

डीसीपी पश्चिम कावेंद्र सागर ने बताया कि देर रात दो बदमाश बाइक पर सवार होकर एटीएम पर पहुंचे और एटीएम से छेड़छाड़ की। इसी से उसका सायरन बज गया और मामले की जानकारी मुम्बई स्थित बैंक के हैड ऑफिस तक पहुंच गई। बदमाश अपने साथ गैस कटर लेकर गए थे। इसी दौरान पास की कॉलोनी में गश्त कर रहे थानाधिकारी कंट्रोल रूम की सूचना मौके पर पहुंचे तो बदमाश भाग गए।

-हेलमेट पहन रखा था बदमाशों ने........


डीसीपी ने बताया कि बदमाशों ने हेलमेट पहना हुआ था इसी कारण सीसीटीवी में उनका चेहरा स्पष्ट कैद नहीं हुआ। बदमाशों की उम्र करीब 25 से 30 साल के बीच लग रही है। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर बदमाशों की तलाश जारी है। एटीएम में कितनी राशि रखी थी इसकों लेकर बैंक प्रशासन से जानकारी ली जाएगी।

-नहीं था एटीएम पर सुरक्षा गार्ड........

डीसीपी कावेंद्र सागर ने बताया कि एटीएम पर सुरक्षा गार्ड तैनात नहीं था। इसी कारण बदमाशों ने रैकी कर इस एटीएम को वारदात के लिए चुना होगा। बैंक प्रशासन पुलिस की सुरक्षा गाइड लाइन की पालना नहीं कर रहे है।
पूर्व में भी बैंक प्रशासन के साथ एटीएम की सुरक्षा को लेकर आलाधिकारियों की कई बार बैठक हो चुकी है। लेकिन सुरक्षा को लेकर बैंक प्रशासन सावचेत नजर नहीं आ रहा है। हमारे इलाके के करीब साठ फीसदी एटीएम पर सुरक्षा गार्ड नहीं है। इससे उनकी सुरक्षा को हमेशा खतरा बना रहता है। पुलिस एटीएम को वारदातों से बचाने के लिए रात को गश्त के दौरान करीब दो से तीन बार चैक करती है। यहीं वजह है कि एटीएम लूट की वारदातों में कमी आई है।

[MORE_ADVERTISE1]