स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बारिश से जल-जंगल छोड़कर शहर में पहुंच रहे जानवर, हडकम्प

RAJESH MEENA

Publish: Aug 19, 2019 11:47 AM | Updated: Aug 19, 2019 11:47 AM

Jaipur

बारिश से जल-जंगल छोड़कर शहर में पहुंच रहे जानवर, हडकम्प

 

Animals reaching the city leaving the forest and rain due to rain : जयपुर। प्रदेश में लगातार बारिश (heavy rain )का दौर बना हुआ है। बारिश ( rain )एेसी हो रही है कि जानवर भी अपनी जान बचाकर जल-जंगल छोड़कर शहर की और पलायन कर रहे है। अपना घर छोड़कर मानव बस्ती में पहुंचने से आमजन में डर का माहौल छाया हुआ है। लेकिन इस ओर वन विभाग को ठोस कदम नहीं उठा रहा है।
तेज बारिश के बाद चंबल उफान पर है। चबंल ( cambal rivar ) से निकल कर कोटा ( KOTA ) के रेलवे वर्कशॉप कॉलोनी में एक मगरमच्छ (
crocodile )पहुंच गया। मगरमच्छ देखकर मौके पर बड़ी संख्या में लोग जमा हो गए। सूचना पर रेलवे कॉलोनी थाना पुलिस मौके पर पहुंची और वन विभाग ( forest deparment ) को सूचना दी। वन विभाग की टीम ने मगरमच्छ को पकड़ कर उसे दूर जंगल में छोड़ दिया।
पुलिस के अनुसार आज सुबह पानी के तेज बहाव से मगरमच्छ चबंल नदी से निकल कर सड़क पर आ गया।

रेलवे वर्कशॉप कॉलोनी में मगरमच्छ सड़क पर देखकर लोग जमा हो गए। इस रास्ते से बड़ी संख्या में रेल कर्मचारी कारखाने में करने जाते है। वन विभाग की टीम सूचना के दो घंटे बाद भी मौके पर नहीं पहुंची। इससे लोगों में आक्रोश व्याप्त हो गया। आक्रोश बढ़ता देखकर पुलिस ने उन्हें समझा-बुझाकर शांत किया।

देरी से मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम को लोगों का आक्रोश झेलना पड़ा। रेलवे कारखाने में काम पर जा रहे मजदूरों को मगरमच्छ नजर आया। इस प्रकार की घटना हाल ही के दिनों में सवाई माधोपुर, धौलपुर व कोटा में भी सामने आ चुकी है। पिछले दिनों मुम्बई ( bombay )में भी एक बड़ा मगरमच्छ ( crocodile )पानी से निकल कर सड़क पर पहुंच गया था।
वहीं बांसवाड़ा (baswara ) पुलिस लाइन( police line ) में बीती रात एक आठ फीट का अजगर घुस आया। अजगर ( ajgar ) को देखकर वहां पर मौजूद जवानों में हडकम्प मच गया। घटना की जानकारी वन विभाग को दी गई। वन विभाग की टीम ने मौके पर पहुंच कर अजगर को पकड़ लिया और उसे भापोल के जंगल में छोड़ दिया। अजगर की सूचना फैलते ही मौके पर बड़ी संख्या में लोग जमा हो गए। अजगर को पकडऩे में मेजर रघुवीर सिंह ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। घटना रात करीब दस बजे की बताई जा रही है।