स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एसडीएम और डॉक्टर में विवाद में आया रोचक मोड़. एसएचओ फंस गए

Jayant Sharma

Publish: Jan 18, 2020 12:08 PM | Updated: Jan 18, 2020 12:08 PM

Jaipur

An interesting twist in the controversy between SDM and the doctor. SHO got stuck

जयपुर video viral दो जनों की लड़ाई में तीसरें ने फायदा उठाया यह कहावत तो अपने कई बार सुनी होगी, लेकिन इस बार ये कहावत उल्टी हो गई। इस बार तीसरें का नुकसान करने की तैयारी की जा रही है जबकि तीसरा पक्ष पुलिस इंस्पेक्टर है। ताजा घटना हनुमानगढ़ जिले की है। जहां दो—तीन दिन पहले एसडीएम और डॉक्टर के बीच कुर्सी पर बैठने को लेकर विवाद हो गया था। उस समय गोलूवाला एसएचओ बिशन सहाय भी वहां मौजूद थे। दोनो पक्षों के बीच हुए विवाद के बाद शुक्रवार को दोनो पक्षों को कलक्टर ने बुलाया और समझाया तो दोनो पक्षों ने सरेंडर कर दिया। इस पर दोनो ही पक्षों ने कहा कि एसएचओ गोलूवाला की भूमिका इस पूरे मामल में सही नहीं है। तो इस बार डॉक्टर के संगठन ने उसे हटाने की मांग रखी है। पदाधिकारियों का कहना है कि एसएचओ को हटाने के लिए एसपी को लिखा जा रहा है। यहां से बात नहीं बनती है तो जयपुर जाकर डीजीपी से मुलाकात की जाएगी और उसके बाद एसएचओ को हटवाया जाएगा। इस पूरे विवाद का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल भी हुआ था।

कलक्टर ने दोनो को चाय पिलाई और झगड़ा सलटाया
आईएमए की ओर से इस दौरान लिखित में माफीनामा मिलने के बाद ही समझौता की बात कही जिस पर कलेक्टर ने समझाइश की। इस बीच एसडीएम ने मौखिक तौर पर कहा कि मैं डॉक्टर्स की इज्जत करती हूं और मेरे किसी शब्द से ठेस लगी है तो मैं अपने शब्द वापस लेती हूं।गोलूवाला सीएचसी निरीक्षण के दौरान हुई थी बहस, वीडियो वायरल होने से गर्माया मामला। इस पर डॉक्टर्स ने सहमति जताई और कलेक्टर ने सभी को चाय पिलाई। कलेक्टर ने दोनों पक्षों में समन्वय कायम रखने के लिए निर्देशित किया। इससे पहले डॉक्टर्स ने गोलूवाला एसएचओ काे हटाने की कार्रवाई की मांग की जिस पर उन्हाेंने एसपी काे लैटर लिखकर अनुशंषा करने के लिए अाश्वस्त किया। इस मौके पर डीआईजी स्टांप भवानी सिंह पंवार, सीएमएचओ डॉ. अरूण कुमार, पीएमओ डॉ. महावीर प्रसाद, आईएमए अध्यक्ष डॉ. निशांत बत्तरा, डॉ. सीएम ढालिया, धर्मेंद्र रोझ आदि मौजूद थे। आईएमए की ओर से इस मामले में गोलूवाला एसएचओ बिशन सहाय की भूमिका की निंदा करते हुए थानाप्रभारी के पद से हटाए जाने की मांग की है। इसके लिए आईएमए की ओर से प्रस्ताव पारित किया गया जिसे एसपी और पुलिस महानिदेशक को भिजवाया जाएगा। आईएमए अध्यक्ष डॉ. निशांत बत्तरा और अरिस्दा अध्यक्ष डॉ. हरीओम बंसल ने कहा कि वार्ता के दौरान एसडीएम ने माना कि उनको एक पुलिस कर्मी ने ही शिकायत की थी। आईएमए पदाधिकारियों ने कहा कि इस मामले में थानाप्रभारी की भूमिका सही नहीं थी जिसको एसडीएम ने भी वार्ता के दौरान कलेक्टर के समक्ष माना। ऐसे अधिकारी को तुरंत हटाया जाना चाहिए। अगर पुलिस अधीक्षक ने इस संबंध में जल्द कार्रवाई नहीं की तो जयपुर जाकर डीजीपी से मिलेंगे।

[MORE_ADVERTISE1]