स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

तीन घंटे बाद आए तो 650 रुपए का चालान, अब इलेक्ट्रोनिक मशीन से ही कटेंगी पर्चियां

Dinesh Saini

Publish: Jan 25, 2020 13:29 PM | Updated: Jan 25, 2020 13:35 PM

Jaipur

जयपुर के जौहरी बाजार की पार्किंग में गाड़ी खड़ी कर अगर आप तीन घंटे बाद लौटे तो 650 रुपए का चालान देना पड़ेगा। वहीं वाहन भी रामनिवास बाग में मिलेगा।  पार्किंग व्यवस्था को सुचारु करने के लिए शुक्रवार को हवामहल पूर्व जोन कार्यालय में बैठक हुई, जिसमें यह फैसला लिया गया...

जयपुर। जयपुर के जौहरी बाजार की पार्किंग में गाड़ी खड़ी कर अगर आप तीन घंटे बाद लौटे तो 650 रुपए का चालान देना पड़ेगा। वहीं वाहन भी रामनिवास बाग में मिलेगा।  पार्किंग व्यवस्था को सुचारु करने के लिए शुक्रवार को हवामहल पूर्व जोन कार्यालय में बैठक हुई, जिसमें यह फैसला लिया गया। पार्किंग ठेकेदार अपनी क्रेन तीन घंटे बाद गाड़ी को रामनिवास बाग भेजेंगे और यातायात पुलिस 650 रुपए का चालान करेगी। इसके साथ ही पार्किंग शुल्क पर भी सहमति बनी। अब एक घंटे तक 20 रुपए और दो घंटे तक 40 रुपए और तीन घंटे के 50 रुपए लिए जाएंगे। निगम उपायुक्त आरके मीणा ने कहा कि इससे अधिक राशि लेने पर कर्मचारियों पर भी कानूनी कार्रवाई की जाएगी। जौहरी बाजार व्यापार मंडल के महामंत्री कैलाश मित्तल ने बताया कि अब तक ग्राहकों से 100 से 120 रुपए तक वसूल किए जा रहे थे।

ये भी होगा
27 जनवरी से पार्किंग कर्मचारी इलेक्ट्रोनिक मशीन से ही गाडिय़ों की पर्ची काटेंगे।
45 डिग्री पर गाडिय़ों को पार्किंग स्थल पर खड़ा करने की व्यवस्था की जाएगी।

राजस्थान पत्रिका ने उठाया था मुद्दा
परकोटा में बदहाल पार्किंग व्यवस्था को लेकर राजस्थान पत्रिका ने कई बार मुद्दा उठाया। जब नगर निगम ने पार्किंग नियमों में बदलाव किया तो इसका व्यापारियों ने विरोध किया। निगम सुनने को तैयार नहीं था। आखिरकार अब निगम ने व्यापारियों और ग्राहकों की परेशानी समझीं और नियमों की सख्ती से पालना के आदेश जारी किए।

युवा शक्ति थीम पर चलेगा इस बार सडक़ सुरक्षा सप्ताह, 4 से 10 फरवरी तक होगा आयोजित
परिवहन विभाग की ओर से 31वें राष्ट्रीय सडक़ सुरक्षा सप्ताह की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। 4 से 10 फरवरी तक आयोजित किए जाने वाले सप्ताह को इस बार युवा थीम पर चलाया जाएगा। परिवहन आयुक्त राजेश यादव ने बताया कि सडक़ सुरक्षा सप्ताह ही नहीं, इस बार सालभर तक लोगों में जागरुकता के लिए कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। यादव ने बताया कि सडक दुर्घटना में युवा ही सबसे ज्यादा दुर्घटनाग्रस्त होते हैं, इसलिए युवा के साथ ही जागरुकता व परिवर्तन लाना है। परिवहन विभाग ने सिुरक्षा कार्यक्रमों के लिए कार्ययोजना और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए हैं। ग्राम पंचायतों में 1.10 लाख लोगों को अग्रदूत के नाम से चिन्हित किया गया है, इन अग्रदूतों को सभी जिलों से जोड़ा जाएगा। ये लोग चेंजमेकर के रूप में पूरे राज्य में काम करेंगे।

[MORE_ADVERTISE1]