स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इस महिला प्रधान आरक्षक ने एक दिन में सुलझाए तीन गुमशुदगी के केस, होंगी सम्मानित

Badal Dewangan

Publish: Jul 19, 2019 17:50 PM | Updated: Jul 19, 2019 17:50 PM

Jagdalpur

पुलिस विभाग (Chhattisgarh Police Department) में इंद्रधनुष नाम से एक योजना संचालित है। जिसमें आरक्षक (Constable) से लेकर निरीक्षक (inspector) पद तक के कर्मचारियों (Employee)को स्वयं द्वारा किये गए उत्कृष्ठ कार्य के लिए पुलिस विभाग के उच्च अधिकारी के द्वारा अवार्ड (Award) दिया जाता है।

जगदलपुर. बोधघाट थाना में पदस्थ एक महिला प्रधान आरक्षक दुशिला भारद्वाज को उत्कृष्ट कार्य करने के लिए बहुत जल्द ही पुलिस विभाग में संचालित इंद्रधनुष योजना के तहत अवार्ड मिलने वाला है।

Read More :देश के 115 जिलों में बस्तर संभाग के इस जिले ने मारी बाजी, बेहतर कार्यों के हासिल किया पहला स्थान

24 घंटों के भीतर ही ओडि़शा के पुजारीपारा में ढूंढ निकाला
महिला प्रधान आरक्षक ने बीते दिनों 3 गुमशुदा लोगों को 24 घंटों के अंदर खोज निकालने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। बता दें कि 29 जून को बोधघाट थाने में एक महिला की गुमशुदगी की रिपोर्ट उसके परिजनों ने दर्ज कराई थी। रिपोर्ट दर्ज होने के तत्काल बाद बोधघाट पुलिस ने एक टीम गठित कर गुम महिला की तलाश में जुट गई। इस टीम की बागडोर बोधघाट थाना में पदस्थ महिला प्रधान आरक्षक दुशिला भारद्वाज को सौंपी गई। दुशिला ने इमानदारी से अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए टीम के साथ उक्त गुमशुदा महिला को 24 घंटों के भीतर ही ओडि़शा के पुजारीपारा में ढूंढ निकाला। इसके बाद बोधघाट पुलिस ने महिला को उसके परिजनों के सुपुर्द कर दिया। इसी तरह 30 जून और 4 जुलाई को एक महिला और एक छात्रा की गुमशुदगी की रिपोर्ट परिजनों द्वारा दर्ज कराई गई थी।

Read More : एक ऐसा स्कूल जहां शिक्षक और चपरासी रहते हैं नशे में, वहां के बच्चे पढ़ाई के अलावा करते हैं हर काम

इंद्रधनुष नाम से एक योजना संचालित है
इसी महिला प्रधान आरक्षक ने अपनी टीम के साथ 24 घंटों के भीतर ने खोज निकालने में सफलता हांसिल की है। जब इसकी जानकारी बस्तर पुलिस अधीक्षक दीपक कुमार झा को मिली तो उन्होंने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि इस तरह के उत्कृष्ट कार्य के लिए पुलिस विभाग में इंद्रधनुष नाम से एक योजना संचालित है। जिसमें आरक्षक से लेकर निरीक्षक पद तक के कर्मचारियों को स्वयं द्वारा किये गए उत्कृष्ठ कार्य के लिए पुलिस विभाग के उच्च अधिकारी के द्वारा अवार्ड दिया जाता है। इसलिए बहुत जल्द ही जगदलपुर की इस महिला प्रधान आरक्षक के नाम का प्रतिवेदन बनाकर पुलिस डीजी के पास भेजा जाएगा तथा अवार्ड देकर प्रोत्साहित भी किया जाएगा।


Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..