स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पहाड़ी व नालों को पार करते जब सीबीआई टीम 8 किमी पैदल चल पहुंची एडसमेटा फिर...

Badal Dewangan

Publish: Jul 20, 2019 12:02 PM | Updated: Jul 20, 2019 12:02 PM

Jagdalpur

सीबीआई की टीम (CBI Team) शाम 4 बजे महिला अफसर (Female officer) के नेतृत्व (Leadership) में 8 किमी पैदल चल बयान लेने एडसमेटा पहुंचा, इससे पहले गांव के लोग देवगुड़ी (Temple) के करीब सुबह से ही एकत्र हो गए थे।

जगदलपुर/बीजापुर. एडसमेटा कांड की जांच करने सीबीआई की टीम शुक्रवार को एडसमेटा के लिए बीजापुर से रवाना हुई। गंगालूर से एडसमेटा के बीच आठ किमी का सफर टीम ने पैदल चलकर पूरा किया। टीम का नेतृत्व सीबीआई की महिला अफसर सारिका जैन कर रही थीं। बस्तर में सीबीआई दूसरी बार पहुंची है और पहली बार बयान लेने में सफल रही है। सीबीआई का पिछला अनुभव खराब रहा था। गंगालूर से पहाड़ी रास्ते और तीन बरसाती नालों को पार करते हुए टीम करीब ३ घंटे में शाम ४ बजे गांव पहुंची। यहां आदिवासियों का बयान लेने का क्रम शुरू हुआ जो देर रात तक जारी रहा। पूरे गांव को सैकड़ों जवानों ने घेर रखा है और सीबीआई की ४ सदस्यीय टीम गांव में देर रात तक आदिवासियों का बयान लेती रही। बयान के दौरान मीडिया को दूर रखा गया। टीम की फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी पर भी रोक लगा दी गई थी।

Read More : सीबीआई बीजापुर में ही खंगालती रही दस्तावेज, बयान देने एडसमेटा में इंतजार करते रहे आदिवासी

बुधवार की रात को ही जिला मुख्यालय आ गई थी
सीबीआई टीम का नेतृत्व कर रही सारिका जैन ने पहले ही मीडिया को जांच के संबंध में कोई भी जानकारी देने से मना कर दिया था। टीम के पहुंचने से पहले ही सुबह से ही गांव के लोग गांव से करीब एक किमी दूर गुड़ी (देवस्थल) के समीप घटनास्थल पर एकत्र हो गए थे। मौसम साफ था इसलिए किसी को ज्यादा दिक्कत नहीं हुई। सीबीआई की टीम बुधवार की रात को ही जिला मुख्यालय आ गई थी। गुरुवार को इस टीम ने जिला मुख्यालय में अफसरों से चर्चा की साथ ही मामले के कागजात खंगाले।

शुक्रवार को सीबीआई के अफसर गंगालूर थाने गए और वहां केस से जुड़े मामलों को देखा। सीबीआई की टीम मृतक सोनू की रिश्तेदार पूनेम सनकी, मृतक कारम पदेगा एवं मृतक उवके छोटे भाई कारम बदरू के रिश्तेदार बण्डी कारम, मृतक पाण्डू के पुत्र कारम कमलू, मृतक मासा कारम की मां कारम सोमली, मृतक बुधराम की पत्नी सोमली कारम,घायल कारम छोटू , पूनेम सोमलू, कारम आयतू एवं कारम सन्नू के अलावा कुछ और लोगों के बयान दर्ज किए जा रहे हैं।

Read More : एडसमेटा मुठभेड़ की जांच के लिए सीबीआई पहुंची बीजापुर, इन बिंदुओं के आधार पर करेगी जांच

सीबीआई के गांव पहुंचने से खिले आदिवासियों के चेहरे
सीबीआई की टीम का एडसमेटा के आदिवासी दो दिन सेे इंतजार कर रहे थे। पहले माना जा रहा था कि टीम गुरुवार को गांव पहुंचेगी लेकिन ऐसा हुआ नहीं। शुक्रवार को भी सुबह से ही आदिवासी टीम का इंतजार कर रहे थे। शुक्रवार शाम 4 बजे टीम को गांव में पाकर ग्रामीणों के चेहरे खिल उठे। आदिवासियों ने कहा कि देश की इतनी बड़ी जांच एजेंसी यहां पहुंची है तो अब हमें न्याय मिलने की उम्मीद है।