स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

देश के 115 जिलों में बस्तर संभाग के इस जिले ने मारी बाजी, बेहतर कार्यों के हासिल किया पहला स्थान

Badal Dewangan

Publish: Jul 19, 2019 15:46 PM | Updated: Jul 19, 2019 15:46 PM

Jagdalpur

देश (India) के 115 अंकाक्षीय जिलों (District) में ओवरऑल बेहतर कार्य (Better work) में कोण्डागांव पहले स्थान पर, जिले के अंदरूनी इलाकों में हुए विभिन्न योजनाओं (Central Plan) का ग्रामीणों (Villagers) को लाभ मिला

कोण्डागांव. देश के 115 अंकाक्षीय जिलों में नीति आयोग ने डेटा रैंकिग के आधार पर बेहतर कार्य के लिए कोण्डागांव को चुना हैं। जिसमें स्वास्थ्य, महिला बाल विकास, कौशल विकास, बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर एवं शिक्षा व कृषि के कार्य में पहले से बेहतर कार्य होने के साथ ही इसका फायदा भी स्थानीय ग्रामीणों में देखने को मिला हैं। जिसकी जानकारी समय-समय पर जिला मुख्यालय से नीति आयोग के द्वारा बनाए गए ऑनलाईन पोर्टल में दर्ज की जाती हैं। जिसके आधार पर नीति आयोग किसी थर्ड पार्टी से इन आंकड़ो का वेरिफिकेशन करवाकर उसकी असलीयत जांचने के बाद ही। पिछड़े जिलों में की रैंकिग निकाला जाता है और इसी आधार पर अंकाक्षीय जिलों का चयन किया जाता हैं।

Read More : एक ऐसा स्कूल जहां शिक्षक और चपरासी रहते हैं नशे में, वहां के बच्चे पढ़ाई के अलावा करते हैं हर काम

मोटर सायकल ले जाना जिन रास्तों से मुश्किल होता था
जिला प्रशासन व स्थानीय जनप्रतिनधियों की पहल से जिले के कुछ इलाकों में पहले से चली आ रही सरकारी योजनाओं में बेहतर कार्य हुए हैं। और इसी बेहतर परफारमेंस के चलते हमारा जिला अब नबंर वन में पहुंच गया हैं। ज्ञात हो कि, जिले के कुछ इलाकों में कुछ साल पहले तक जहां मोटर सायकल ले जाना जिन रास्तों से मुश्किल होता था। वहां अब फर्राटेदार चार पहिया वाहने चलने लगी हैं। जिन किसानों को कृषि की वैज्ञानिक तकनीक की जानकारी नही थी वे अब वैज्ञानिक तकनीकों से खेती कर मोटी रकम कमा रहे हैं।

Read More : जिले का पहला ऐसा स्कूल जहां बच्चों को पढऩे के लिए नहीं पढ़ती पुस्तक कॉपियों की जरूरत

पहले भी मिल चुका है पुरस्कार
ज्ञात हो कि, अंकाक्षीय जिले में बेहतर कार्य के लिए दिसंबंर 2018 में जिले को दिल्ली में हुए कार्यक्रम के दौरान बेहतर परफामेंस के लिए पांच करोड़ की राशि व मोमेंटों से नवाजा जा चुका हैं। हालांकि उस वक्त कोण्डागांव देश में दूसरे स्थान पर था, लेकिन अबकी बार कोण्डागांव ने अपनी रैंकिग सुधारते हुए पहले पायदान पर पहुंच गया हैं। इस कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन के लिए जिला प्रशासन सहभागीय उतना ही यहॉ के जनप्रतिनधियों व इस योजना का काम देख रहे रजनीश आर व सुषमा एस को भी इसका श्रेय जाता हैं।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..