स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

firing in train काशी एक्सप्रेस में आधी रात को चली गोली, एक घायल

Lalit Kumar Kosta

Publish: Jul 20, 2019 12:17 PM | Updated: Jul 20, 2019 12:17 PM

Jabalpur

ट्रेनों में यात्रियों की सुरक्षा भगवान भरोसे

नरसिंहपुर। ट्रेनों में यात्रियों की सुरक्षा इन दिनों भगवान भरोसे ही चल रही है। आए दिन होने वाली घटनाएं इस बात का सुबूत हैं कि जिम्मेदारों का खौफ अपराधियों में पूरी तरह से खत्म हो गया है। ताजा मामला ट्रेन में गोली चलने का आया है। जिसमें एक यात्री घायल हो गया है। हालांकि जिम्मेदारों का कहना है यात्री गोली से नहीं बल्कि नट बोल्ट लगने से घायल हुआ है।

मां से मिलने की जिद पर डेढ़ साल की बच्ची को पिता ने पटककर मार डाला

काशी एक्सप्रेस के स्लीपर कोच में उस समय हडक़ंप मच गया जब एक अज्ञात व्यक्ति में ट्रेन गोली चला दी। इस दौरान गोली ट्रेन की छत में लगी और कारतूस कोच में गिर गया। ट्रेन यात्रियों की भीड़ से खचाखच भरी थी। आनन-फानन में यात्रियों ने पुलिस को सूचना दी। जीआरपी और आरपीएफ ने ट्रेन की जांच की, लेकिन कोई सुराग नहीं मिला। जीआरपी गाडरवारा ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ प्रकरण पंजीबद्ध कर जांच शुरू कर दी है।

daughter murder बेटी के चरित्र पर शक, पिता ने काट दी कुल्हाड़ी से गर्दन

जानकारी के अनुसार गाड़ी संख्या 15018 गोरखपुर से चलकर मुंबई लोकमान्य तिलक टर्मिनेस जाने वाली काशी एक्सप्रेस शुक्रवार रात करीब 1.40 बजे करेली स्टेशन पहुंची थी। करेली स्टेशन से गाडरवारा के लिए ट्रेन रवाना ही हुई थी कि करीब 5 मिनट बाद स्लीपर कोच एस-7 में तेज धमाके की आवाजा से गहरी नींद में सोये यात्री जाग उठे। यात्रियों ने तुरंत पुलिस को हेल्पलाइन नंबर पर सूचित किया।

घायल यात्री सुनील चौधरी ने बताया कि मेरी बर्थ के सामने पंखे पर गोली का निशान था और खोल मेरी बर्थ पर पड़ा था। जीआरपी का कहना है कि यात्री को गोली नहीं लगी है बल्कि कोच में गोली चलने की वजह से निकला नटबोल्ट यात्री के सिर पर लग गया। जिससे उसे चोट आई। प्राथमिक उपचार के बाद यात्री को छुट्टी दे दी गई। गोली से किसी को चोट नहीं आई है। आशंका है कि जिस समय गोली चलाई गई उस समय ट्रेन धीमी गति से चल रही थी। गोली चलाने वाला व्यक्ति उसी का फायदा उठाकर ट्रेन से कूदकर भाग निकला होगा।