स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

आखिर पेड़ चोरी के मामले में दर्ज हो गई एफआईआर

Krishna Singh

Publish: Aug 10, 2019 22:01 PM | Updated: Aug 10, 2019 22:01 PM

Itarsi

प्रस्तावित बस स्टैंड से काटे गए थे १४७ पेड़
साल भर में भी चोरों की पहचान नहीं कर पाया प्रशासन
नपा को एक साल लग रिपोर्ट लिखाने में

इटारसी. तवा कॉलोनी में प्रस्तावित बस स्टैंड से काटे गए लाखों रुपए के पेड़ों के मामले में एफआईआर दर्ज हो गई है। पुलिस ने इस मामले में अज्ञात के खिलाफ अपराध दर्ज किया है।
कृषि अभियांत्रिकी विभाग की जमीन तवा कॉलोनी में प्रस्तावित बस स्टैंड पर १४७ इमारती पेड़ लगे हुए थे। इन पेड़ों को मार्च २०१८ में काटा गया था।

- ऐसे आया था मामला सामने
इस मामले में सांसद प्रतिनधि मनोज मालवीय और आरटीआई एक्टीविस्ट अनिल चौधरी ने नगर पालिका और एसडीएम को शिकायत दर्ज की थी। इस शिकायत के बाद तहसीलदार और आरआई द्वारा की जांच में पेड़ कटाई होना पाया गया था।

- नपा ने कह दिया था नहीं है हमारी जमीन
इस मामले में जब यह तय हो गया कि कटाई हुई है तब तत्कालीन एसडीएम ने नपा को एफआईआर कराने के आदेश दिए थे। इसके बाद नपा ने पहले यह कहा दिया था कि यह हमारी जमीन ही नहीं। बाद में जब यह सवाल उठाए गए कि जब जमीन नपा की नहीं है तो फिर बाउंड्रीवाल कैसे बन गई। इस तरह मामला टलता रहा। बाद में वर्तमान एसडीएम हरेंद्र नारायण ने इसमें जांच करके एफआईआर दर्ज कराने के आदेश किए।

- एक साल से ज्यादा लग गए जांच में
मार्च २०१८ में पेड़ कटाने के तुरंत बाद ही शिकायत हो गई थी। इसके बाद जांच करते-करते एक साल गुजर गया। अब जांच के बाद रिकार्ड सहित सीएमओ हरिओम वर्मा की ओर से एफआईआर कराने का आवेदन दिए जाने पर पुलिस ने चोरी की एफआईआर दर्ज की है। टीआई आरएस चौहान ने कहा इस मामले में यदि कोई कोई कुछ बताना चाहे तो बता सकता है।

- एसडीएम से भी प्राप्त हुआ है जांच प्रतिवेदन
इस मामले में एसडीएम हरेंद्र नारायण द्वारा भी जांच कराई गई थी। जांच प्रतिवेदन में यह सत्यापित हुआ है कि यह जमीन नपा को सौंपी गई थी और इस जमीन पर पेड़ लगे हुए थे जो चोरी हो गए हैं।

इस मामले में मय दस्तावेज के एफआईआर करने का आवेदन प्राप्त हुआ था। इस मामले में अज्ञात के खिलाफ चोरी की एफआईआर की गई है। अब आगे की जांच के बाद इस मामले में नामजद रिपोर्ट दर्ज की जाएगी।
आरएस चौहान, टीआई