स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अनोखा शहर जहां धार्मिक यात्राओं के लिए जाते जत्थे

Krishna Singh

Publish: Jul 13, 2019 20:44 PM | Updated: Jul 13, 2019 20:44 PM

Itarsi

यहां से अलग-अलग धार्मिक स्थलों पर जाते है जत्थे

इटारसी. शहर में धार्मिक यात्रा कराने की प्रथा कई साल पुरानी है। अलग-अलग ग्रुप हर वर्ष अलग-अलग धार्मिक स्थानों की यात्रा कराते हैं। इसमें शिव शक्ति सेवा मंडल अमरनाथ यात्रा, मां दुर्गा चौक वैष्णो समिति, बैद्यनाथ काबड़ यात्रा समिति द्वारा बैद्यनाथ धाम के जत्था ले जाया जाता है।

- शिवशक्ति सेवा मंडल के भारतभूषण गांधी ने बताया कि जत्थे में संपूर्ण नर्मदांचल के श्रद्धालु भी प्रतिवर्ष इटारसी से अमरनाथ यात्रा जाते हैं। जत्था ले जाने का शुभारंभ सन् 1999 में शुरू हुआ। पहले साल इटारसी से यात्रा में 32 श्रद्धालुओं ने यात्रा की थी। बाद में हर साल संख्या बढ़ते चली गई।

ऐसे होती है यात्रा- यहां से जम्मूतवी तक ट्रेन से जाने के बाद बस द्वारा सभी श्रद्धालु पहलगाम पहुंचते है। इसके बाद यहां से कुछ पैदल गुफा तक जाते हैं कुछ श्रद्धालु घोड़े से गुफा तक पहुंचते है। इसके बाद बालटाल में सभी यात्री मिलते हैं। इसके बाद यहां वापस जम्मूतवी आते हैं। यहां मां वैष्णोदेवी के दर्शनों के बाद श्रद्धालु वापस लौटते हैं।

- मां दुर्गा चौक वैष्णो समिति द्वारा वैष्णो देवी यात्रा कराई जाएगी। यह यात्रा ४० साल पहले देवी भक्त सतीश बतरा द्वारा शुरू की गई थी। वैष्णो देवी यात्रा में शहर से हर वर्ष २०० से ज्यादा श्रद्धालु दर्शन करने जाते हैं। इस वर्ष भी २०० से श्रद्धालुओं ने अपनी सहमति दी है। बतरा ने बताया कि अभी करीब ३० हजार श्रद्धालु जत्थे के माध्यम से दर्शन कर चुके हैं। मां वैष्णो देवी के लिए जत्थे में शामिल श्रद्धालु जम्मू जाते हैं यहां जाकर फिर सभी अपने-अपने साधनों से दर्शन करते हैं।

- बैद्यनाथ काबड़ यात्रा समिति द्वारा बाबा बैद्यनाथ की यात्रा कराई जाती है। बाबा बैद्यनाथ के लिए ६५ साल पहले जत्था ले जाने का शुभारंभ हुआ था। इस वर्ष भी यह जत्था १७ जुलाई को रवाना होगा। इसमें ७० से ज्यादा श्रद्धालु शामिल होंगे। बैद्यनाथ धाम यात्रा बेहद कठिन है इसमें इटारसी से जाने वाले श्रद्धालु पहले बनारस जाकर काशी विश्वनाथ ज्योर्तिलिंग के दर्शन करते हैं फिर सुल्तानगंज पहुंचने के बाद यहां से १२० किलोमीटर की पैदल कावड़ यात्रा करके बाबा बैद्यनाथ के दर्शन करते हैं।

अमरनाथ और वैष्णो देवी दर्शन करने जाएंगे श्रद्धालु
इटारसी. बाबा अमरनाथ और वैष्णोदेवी यात्रा के लिए रविवार १४ जुलाई को जत्था रवाना होगा। अमरनाथ जत्थे में करीब २०० यात्री बाबा बर्फानी बाबा के दर्शन करने जाएंगे इधर वैष्णो देवी के दर्शनों के लिए भी जत्थे में शामिल होने के लिए २०० श्रद्धालु जा रहे हैं। वैष्णो देवी यात्रा और अमरनाथ यात्रा का जत्था झेलम और हिमसागर एक्सप्रेस से रवाना होगा। सुबह श्रद्धालुओं को धूमधाम से विदाई देने के लिए लोग यहां पहुंचेंगे।