स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

त्योहारी सीजन में दिल्ली-एनसीआर में खरीदें सस्ता घर, 1.09 लाख घरों की होने जा रही बिक्री

Shivani Sharma

Publish: Oct 14, 2019 11:43 AM | Updated: Oct 14, 2019 11:44 AM

Industry

  • 45 लाख से भी कम रुपए में खरीदें घर
  • रेपो रेट में कटौती के बाद देना होगा कम ब्याज

नई दिल्ली। अगर आप भी दिल्ली एनसीआर में घर खरीदने का प्लान बना रहे हैं तो यह समय आपके लिए बिल्कुल सही है क्योंकि हाल ही में आरबीआई ने ब्याज दरों में कटौती की है। इसके साथ ही इस समय दिल्ली एनसीआर में लगभग 1.09 लाख घर बिक्री के लिए तैयार हैं। यानी कि इन सभी घरों के कंस्ट्रक्शन का काम पूरा हो गया है। आरबीआई के द्वारा रेपो रेट में की गई कटौती के बाद आपको लोन पर कम ब्याज देना होगा।


54 फीसदी घर हैं 45 लाख से कम

प्रॉपर्टी ब्रोकरेज कंपनी प्रॉपटाइगर ने जानकारी देते हुए बताया कि 1.09 लाख घरों में लगभग 54 फीसदी घर ऐसे हैं, जिनकी कीमत 45 लाख रुपए से कम की है। इन घरों को अगर आप इस समय खरीदते हैं तो आपको लोन की राशि भी कम चुकानी होगी। इसके साथ ही मोदी सरकार ने अपने बजट में घोषणा करते हुए कहा था कि 45 लाख रुपए या इससे ज्यादा का घर खरीदने वालों को सरकार की ओर से 1.5 लाख रुपए तक की छूट भी दी जाएगी।


सरकार ने किया था छूट का ऐलान

सरकार ने रियल एस्टेट सेक्टर में तेजी लाने के लिए ग्राहकों को यह छूट देने का ऐलान किया था। पिछले कुछ समय से रियल एस्टेट सेक्टर की स्थिति काफी नाजुक बनी हुई है, जिसके कारण लाखों घर बनने के बाद भी उनकी सेल नहीं हो रही है। प्रॉपटाइगर ने बताया कि जुलाई, 2019 तक कुल 1,08,937 घर ऐसे थे, जिनकी बिक्री नहीं हुई थी और वह अभी भी ऐसे ही पड़े हुए हैं।


इन इलकों में नहीं हुई बिक्री

आपको बता दें कि गुरुग्राम के भिवाड़ी, रेवाड़ी, नीमराना और धारूहेड़ा इलाकों में घरों की बिक्री नहीं हुई है, जिसके कारण यहां बने हुए फ्लैट खाली पड़े हैं। इसके साथ ही 54 हजार से ज्यादा फ्लैट ऐसे हैं, जिनकी कीमत 45 लाख से कम हैं तो अगर आप इस समय में फ्लैट खरीदते हैं तो आपको काफी फायदा हो सकता है।


कई बिल्डर्स पर चल रहे इंसॉल्वेंसी के मामले

प्रॉपटाइगर डॉट कॉम के स्वामित्व वाली एलारा टेक्नोलॉजीज के सीओओ मणि रंगराजन ने जानकारी देते हुए बताया कि पिछले कुछ सालों में बिल्डर्स पर इंसॉल्वेंसी के मामले बढ़ते जा रहे हैं, जिसके कारण रियल एस्टेट सेक्टर पर काफी बुरा असर पड़ा है और इसका सबसे ज्यादा नुकसान नोएडा के मार्केट को हुआ है। इसके साथ ही फ्लैट्स की बिक्री न होने के कारण इन सभी शहरों में प्रॉपर्टी का काफी स्टॉक जमा हो गया है।


घर खरीदने का है अच्छा मौका

इसके साथ ही रंगराजन ने कहा कि सेक्टर के लिए स्थिति चिंताजनक है, लेकिन सरकार जिस तरह से ब्याज दरों में रिकॉर्ड छूट और दूसरे टैक्स लाभ दे रही है, उस हिसाब से ग्राहकों के लिए यह बने- बनाए घर खरीदने का अच्छा मौका है।