स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

एक लाख रुपए से ज्यादा का टिकट खरीदने के बाद भी नहीं कर पाए इस स्पेशल ट्रेन का सफर

Saurabh Sharma

Publish: Oct 11, 2019 12:35 PM | Updated: Oct 11, 2019 12:35 PM

Industry

  • सरकार ने विवाहित जोड़ों के लिए शुरू की थी करवाचौथ स्पेशन ट्रेन
  • सिर्फ दो दंपतियों ने खरीदा था ट्रेन का टिकट, रेलवे ने कैंसल की ट्रेन

नई दिल्ली। ऐसे मौके कम ही देखने को मिलते हैं जब रेलवे कोई स्पेशल ट्रेन चलाए और उसका टिकट भी हजारों लाख में हो। उसके बाद भी मंत्रालय को वो ट्रेन कैंसल करनी पड़े। मामला कुछ ऐसा ही सामने आया है। जब उस ट्रेन के लिए सिर्फ चार लोगों ने ही टिकट खरीदे और पैसेंजर्स के ना होने से ट्रेन को कैंसल करना पड़ा। ताज्जुब की बात तो ये है कि इस ट्रेन के लिए सिर्फ दो ही दंपतियों ने टिकट खरीदा था। जिसके लिए उन्होंने करीब एक लाख रुपए खर्च किए थे। अब आप को लग रहा होगा कि आखिर यह कौन सी ट्रेन है जिसका किराया इंटरनेशनल फ्लाइट के बराबर या उससे ज्यादा है। वास्तव में सरकार की ओर से करवाचौथ के मौके पर दंपतियों के लिए एक स्पेशल ट्रेन चलानी थी। लेकिन इस ट्रेन के टिकट ही नहीं बिक पाए। ऐसे में मंत्रालय को ट्रेन ही कैंसल करनी पड़ी।

यह भी पढ़ेंः- आज से सफल आउटलेट्स पर टमाटर मिलेंगे सस्ते, सरकार ने किया पूरा इंतजाम

यह है इस ट्रेन की खासियत
इस ट्रेन की खासियत से पहले इस ट्रेन का नाम जानना काफी जरूरी है। जानकारी के अनुसार इस स्पेशल ट्रेन का नाम 'द मैजेस्टिक राजस्थान डीलक्स' है। जिसे विवाहित जोड़ों के लिए पांच दिन के लिए विशेष यात्रा पर जाना था। इस पैकेज का नाम 'ड्रीम हॉलिडे' रखा गया था। इस ट्रेन को राजस्थान के प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों तक लोगों को पहुंचाना था। इसे करवाचौथ के मौके पर विवाहित जोड़ों के लिए शुरू किया जाना था। जिसमें 78 सीट आरक्षित थी। इस ट्रेन में नहाने के लिए बाथरूम और मसाज का भी इंतजाम था। वहीं बच्चों के लिए आईआरसीटीसी की ओर से विशेष व्यवस्था की गई थी। लेकिन इस ट्रेन का टिकट सिर्फ दो ही जोड़ों ने खरीदा था। बाकी सीटें खाली रह गई।

यह भी पढ़ेंः- एडीआर रिपोर्ट: भाजपा ने 2014 में महाराष्ट्र, हरियाणा चुनाव में सबसे ज्यादा खर्च किए

इतने रुपए की थी ट्रेन की टिकट
इस ट्रेन को भारतीय रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म ने एडवरटीजमेंट के तौर पर चलाना था। जो 14 अक्टूबर को सफदरजंग रेलवे स्टेशन से रवाना होनी थी। जिसके बाद वो जैसलमेर किला, पटवन की हवेली, गड़ीसर झील, मेहरानगढ़ किला, जसवंत थड़ा, अम्बेर किला और सिटी पैलेस जैसे ऐतिहासिक स्थलों पर जाती। जानकारों की मानें तो प्रति दंपति इसका किराया एसी वन में 1,02,960 रुपए और एसी टू टीयर में 90,090 रुपए था। सिर्फ दो दंपतियों ने बुकिंग कराई थी, जिनका रुपया वापस कर दिया गया है। ट्रेन में ज्यादा बुकिंग ना होने का कारण ज्यादा किराया होना बताया जा रहा है।