स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

देश के 5 करोड़ किसानों को स्वतंत्रता दिवस पर तोहफा, IFFCO ने 50 रुपये घटाया खाद का दाम

Ashutosh Kumar Verma

Publish: Aug 16, 2019 10:30 AM | Updated: Aug 16, 2019 10:41 AM

Industry

  • IFFCO ने कहा- नई कीमतें 15 अगस्त से ही लागू
  • काॅम्प्लेक्स खादों के दाम में 50 रुपये प्रति बोरी की कटौती
  • दुनिया की सबसे बड़ी उर्वरक कंपनी है IFFCO

नई दिल्ली। 73वें स्वतंत्रता दिवस पर देश की दिग्गज खाद उत्पादक कंपनी IFFCO ने किसानों को एक खास तोहफा दिया है। IFFCO ने उर्वरक के दाम में कमी करने का फैसला किया है। इस को-ऑपरेटिव ने डीएपी और एनपीके खादों की कीमतों में 50 रुपये प्रति बोरी कटौती किया है। को-ऑपरेटिव ने नई कीमतों में गुरुवार यानी 15 अगस्त से ही लागू भी कर दिया है।

IFFCO के प्रबंध निदेश यू एस अवस्थी ने इस संबंध में जानकारी देते हुए अपने ट्वीटर अकाउंट पर लिखा, "PM मोदी के साल 2022 तक किसानों की आमदनी को दोगुना करने के लक्ष्य को प्राप्त करने में इससे मदद मिलेगी, क्योंकि कीमतों में कमी किसानों की उत्पादन लागत को घटाएगी।" इसके अलावा इफ्फको ने अपने एक बयान में कहा कि यह को-ऑपरेटिव किसानों के हित में अपने खादों की दाम में निरंतर कटौती करता आया है।

यह भी पढ़ें - पीएम मोदी के भाषण से प्रभावित हुए आनंद महिंद्रा, ट्वीट कर दी बधाई

को-ऑपरेटिव की तरफ से बयान में कहा गया, "73वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर IFFCO ने कॉम्प्लेक्स उर्वरक का दाम 50 रुपये प्रति बोरी कम करने का फैसला लिया है ताकि किसानों को अपना इनपुट कॉस्ट कम करने में मदद मिले।"

क्या है नया भाव

इस कटौती के बाद DAP (डाई-अमोनियम फॉस्फेट) काम दाम 1300 रुपये प्रति बोरी से घटकर 1250 रुपये प्रति बोरी हो गया है। इसी प्रकार NPK 1(नाइट्रोजन-फास्फोरस-पोटैशियम) का भाव भी 1250 रुपये प्रति बोरी से घटकर 1200 रुपये प्रति बोरी के स्तर पर आ गया है। NPK 2 का भाव में भी अब 1260 रुपये प्रति बोरी से घटकर 1210 रुपये प्रति बोरी के स्तर पर आ गया है। एनपी का भाव भी 1000 रुपये प्रति बोरी से घटकर 950 प्रति बोरी हो गया है।

यह भी पढ़ें - 7th Pay Commission: दशहरा से पहले केंद्रीय कर्मचारियों को तोहफा, बढ़ सकता है महंगाई भत्ता!

दुनिया की सबसे बड़ी उर्वरक कंपनी है IFFCO

बता दें कि यह को-ऑपरेटिव देशभर के 5 करोड़ किसानों को 35,000 को-ऑपरेटिव सोसाइटी के माध्यम से खाद मुहैया कराता है। IFFCO दुनिया की सबसे बड़ उर्वरक कंपनी है, जिसने वित्त वर्ष में 2018-19 में कुल 27,852 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया था। कंपनी के पास 5 मैन्युफैक्चरिंग प्लांट्स हैं, जिसमें 81.49 लाख टन खाद का उत्पादन किया जाता है।