स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मंदी के बीच औद्योगिक उत्पादन में मिली राहत, जून के मुकाबले जुलाई में 3 फीसदी का इजाफा

Saurabh Sharma

Publish: Sep 12, 2019 21:50 PM | Updated: Sep 13, 2019 07:14 AM

Industry

  • जून में उत्पादन वृद्घि दर 1.17 फीसदी दर्ज की गई थी
  • पिछले साल जुलाई में औद्योगिक उत्पादन वृद्धि दर 6.5 फीसदी थी

नई दिल्ली। भारत के औद्योगिक उत्पादन की वृद्धि दर इस साल जुलाई में बढ़कर 4.3 फीसदी हो गई। वहीं, इस साल जून महीने में देश का औद्योगिक उत्पादन वृद्धि दर 1.17 फीसदी दर्ज की गई थी। औद्योगिक उत्पादन दर के आधिकारिक आंकड़े गुरुवार को जारी किए गए। हालांकि सालाना आधार पर जुलाई 2019 में औद्योगिक उत्पादन वृद्धि दर कम है। पिछले साल जुलाई में देश की औद्योगिक उत्पादन वृद्धि दर 6.5 फीसदी थी।

यह भी पढ़ेंः- खाद्य पदार्थों के दाम बढ़ने से अगस्त में बढ़ी 3.21 फीसदी खुदरा महंगाई

कुछ इस तरह के आंकड़े हुए जारी
- औद्योगिक उत्पादन सूचकांक के अनुसार, अप्रैल-जुलाई 2019 के दौरान संचयी औद्योगिक उत्पादन वृद्धि दर पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 3.3 फीसदी दर्ज की गई।

- विनिर्माण क्षेत्र के उत्पादन में जुलाई के दौरान 4.2 फीसदी की वृद्धि हुई जबकि पिछले साल की समान अवधि में यह वृद्धि दर सात फीसदी थी।

- सालाना आधार पर खनन क्षेत्र का उत्पादन 3.4 फीसदी से बढ़कर इस साल जुलाई में 4.9 फीसदी हो गया। बिजली उत्पादन में 4.8 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई जबकि जुलाई 2018 में बिजली उत्पादन वृद्धि दर 6.6 फीसदी थी।

- प्राथमिक क्षेत्र के उत्पादन में 3.5 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई। वहीं, मध्यवर्ती क्षेत्र का उत्पादन 13.9 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई।

- कंज्यूमर नॉन-ड्यूरेबल्स क्षेत्र के उत्पादों में 8.3 फीसदी और कंज्यूमर ड्यूरेबल्स उत्पादों में 2.7 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई।

- इन्फ्रास्ट्रक्चर व कंस्ट्रक्शन क्षेत्र के उत्पादों में 2.1 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई। वहीं, पूंजीगत वस्तुओं का उत्पादन 7.1 फीसदी घट गया।

- विनिर्माण क्षेत्र के 23 उद्योग समूहों में से 13 उद्योगों में इस साल जुलाई के दौरान पिछले साल के इसी महीने के मुकाबले सकारात्मक वृद्धि दर्ज की गई।