स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पीएम पैकेज से जम्मू कश्मीर में जॉब और एजुकेशन पर केंद्र करेगी 1000 करोड़ रुपए का निवेश

Saurabh Sharma

Publish: Sep 05, 2019 12:45 PM | Updated: Sep 05, 2019 12:45 PM

Industry

  • केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर में सबसे पहले दे रही है रोजगार पर ध्यान
  • निवेश के लिए 44 कंपनियों में 30 कंपनियों को शॉर्टलिस्ट
  • सभी मंत्रालय जम्मू-कश्मीर जाकर योजनाओं की करेंगे प्लानिंग

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर को विकास की पटरी पर लाने का काम शुरू कर दिया है। बड़े उद्योगपतियों के बाद खुद सरकार भी इनिशिएटिव लेने जा रही है। श्रीनगर में मेट्रो ट्रेन प्रोजेक्ट के बाद अब केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर में जॉब और एजुकेशन पर 1000 करोड़ रुपए का निवेश करने का मन बना चुकी है। यह फंड पीएम पैकेज के तहत दिया जाएगा। इसके लिए सरकार ने डेल, इंटेल, अमेजन और अन्य कंपनियों से संपर्क किया है। ताकि जम्मू कश्मीर के युवाओं को रोजगार मिलने में मदद हो सके।

यह भी पढ़ेंः- क्रिसिल ने मोदी सरकार को दिया झटका, आर्थिक वृद्घि दर अनुमान को घटाकर किया 6.3 फीसदी

केंद्र का सबसे पहले रोजगार पर ध्यान
पिछले कुछ सालों से रोजगार पर मुद्दे पर घिरी केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर में युवाओं को रोजगार देने का प्लान बनाया है। जिसके लिए देशभर की कंपनियों को भी आमंत्रित किया गया था। जम्मू कश्मीर में निवेश करने और यहां पर इंडस्ट्री स्थापित करने के लिए फस्र्ट फेज में 44 कंपनियों ने आवेदन किया था। जिनमें से 30 कंपनियों को चिह्नित किया गया है। यह कंपनियां आईटी एंड टेक्नॉलोजी, इन्फ्रास्टक्चर, रीन्यूबल एनर्जी, मैन्यूफैक्चरिंग, हॉस्पिटेलिटी, डिफेंस और स्किल एजुकेशन से जुड़ी हुई हैं। अगर सबकुछ सही रहता है तो जल्द ही जम्मू-कश्मीर में बंपर नौकरियां होंगी।

यह भी पढ़ेंः- सभी ब्याज दरों को एक अक्टूबर से रेपो रेट से जोडऩे का आरबीआई ने दिया आदेश

सभी मंत्रालय जाएंगे जम्मू-कश्मीर
जानकारी के अनुसार सरकार आईआईटी स्टूडेंट्स के लिए विंटर इंटर्नशिप, स्पोट्र्स एंड फिटनेस और शीतकालीन इंटर्नशिप, खेल और फिटनेस के इंफ्रस्ट्रक्चर जैसी योजनाओं पर भी काम शुरू हो रहा है। पिछले दिनों सरकार की ओर से सभी मंत्रालयों से जम्मू-कश्मीर का विजिट करने और वहां के एडमिनिस्ट्रेशन की सलाह लेकर विभिन्न योजना प्रस्ताव बनाकर पेश होने कहा था। जिसके तहत मानव संसाधन विकास मंत्रालय अगले हफ्ते अपनी टीम को राज्य में भेजने की तैयारी कर रहा है। वहीं पर्यटन मंत्रालय भी जल्द कश्मीर की ओर रवाना होगा। नीति आयोग भी जल्द ही जम्मू-कश्मीर में एक प्रतिनिधिमंडल भेज सकता है।