स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ट्वींकल का अपहरण, दुष्कर्म और हत्या कर जला दी लाश, इस भाजपा नेता और उसके बेटों को बनाया आरोपी

Reena Sharma

Publish: Jul 19, 2019 16:34 PM | Updated: Jul 19, 2019 16:34 PM

Indore

ट्वींकल डागरे हत्याकांड : आरोपियों की ओर से पेश किए गए आवेदन पर करीब एक घंटे चली सुनवाई, फैसला आज

 

इंदौर. चर्चित ट्वींकल डागरे हत्याकांड को लेकर गुरुवार को विशेष न्यायालय में सुनवाई हुई। विशेष अपर सत्र न्यायाधीश बीके द्विवेदी के समक्ष आरोपियों की ओर से एक दिन पहले आवेदन पेश किया गया था और मांग की गई थी कि ट्वींकल के पिता सहित उनके अन्य रिश्तेदारों के बयान कराने के बाद एक साथ सभी का प्रतिपरीक्षण (क्रॉस एक्जामिनेशन) कराने की अनुमति दी जाए।

must read : अस्पताल में नवजात की मौत, जांच में दोषी मिले प्रभारी, ड्यूटी डॉक्टर, नर्स और सिस्टर

इस आवेदन को लेकर केस में शासन द्वारा विशेष रूप से नियुक्त किए गए एडवोकेट अजय उकास ने आपत्ति ली। उनका कहना था आरोपी राजनीति रसूक रखते हैं, यदि गवाहों के बयान के बाद उनका प्रतिपरीक्षण नहीं कराया गया तो उन पर दबाब बनाया जा सकता है। केस में 40 से अधिक गवाहों के बयान होना है ऐस में लंबे समय बाद प्रतिपरीक्षण होने पर गवाह प्रभावित हो सकते हैं और उन्हें डराया-धमकाया भी सकता है। इसलिए गवाहों का मुख्य परीक्षण और प्रतिपरीक्षण साथ-साथ ही किया जाए। केस की सुनवाई धीमी कराने के लिए आरोपियों की ओर से यह आवेदन दिया गया है। कोर्ट ने तर्क सुनने के बाद अपना फैसला सुरक्षित रखा है जो शुक्रवार को सुनाया जाएगा। बुधवार को ट्वींकल की मां रीटा डागरे ने अपने बयान दर्ज कराए थे।

must read : अस्पताल में नवजात की मौत, जांच में दोषी मिले प्रभारी, ड्यूटी डॉक्टर, नर्स और सिस्टर

अक्टूबर 2016 में ट्वींकल के गायब होने के करीब दो साल बाद पुलिस ने भाजपा नेता जगदीश करोतिया और उसके बेटे विनय, विजय, अजय और निलेश कश्यप को आरोपी बनाया है। इन पर ट्वींकल का अपहरण, दुष्कर्म और हत्या करने का आरोप है। आरोप है कि इन्होंने हत्या कर उसकी लाश खुली जमीन पर जला दी।