स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दीपावली पर सूट पहनने की इच्छा जताई, सास को बाजार भेजने के बाद बहु ने लगाई फांसी

Krishnapal Singh Chauhan

Publish: Oct 21, 2019 09:03 AM | Updated: Oct 20, 2019 18:18 PM

Indore

द्वारकापुरी थाना क्षेत्र का मामला, भाई का आरोप बहन ने फांसी नहीं लगाई उसे मारा गया

 

सास को बाजार सूट खरीदने के लिए भेजने के बाद नवविवाहिता ने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। ननद घर पहुंची तो भाभी को फंदे पर झूलता देख घबरा गई। लोगों की मदद से उन्होंने भाभी को फंदे से उतारा और हॉस्पिटल ले गए। जांच के दौरान डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। वहीं पीएम कराने पहुंचे भाई ने ससुराल वालों पर आरोप लगाए है।

टीआई विजय सिसोदिया के मुताबिक निकिता 22 पति दुर्गेश कुशवाह निवासी सूर्यदेव नगर ने शनिवार को फांसी लगाकर खुदकुशी की है। शुक्रवार रात को ससुराल वाले मृतिका को उसके रालामंडल स्थित मायके से लेकर आए थे। शनिवार शाम उसने अज्ञात कारण से आत्महत्या कर ली। शव का जिला हॉस्पिटल में पीएम कराया है। ननद दीक्षा ने पुलिस को बताया कि वह आईआईएम में नौकरी करती है। आठ माह पूर्व उनके भाई की कोर्ट मैरिज के बाद मंदिर में विवाह हुआ। भाभी ने दीपावली के दिन साड़ी की जगह सूट पहनने की इच्छा जाहिर की। मां उनका शूट लेने के लिए घर से निकली। इसके बाद छोटी बहन घर पहुंची। उसने भाभी को कई बार आवाज दी लेकिन कमरे का दरवाजा नहीं खुला। संदेह के चलते उसने खिडक़ी से झांका तो भाभी को फंदे पर देख घबरा गई। शोर मचाकर उसने परिचित को बुलाया। सभी ने दरवाजा तोड़ फंदे से उतारा और उन्हें हॉस्पिटल लेकर पहुंचे। जांच के दौरान डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित किया तो पुलिस और मायके पक्ष को सूचना दी। इधर, एफएसएल जांच के लिए पुलिस ने घटनास्थल सील कर दिया है। पुलिस आत्महत्या की वजह पता लगाने के लिए घटनास्थल की जांच के साथ सुसाइड नोट भी तलाशेगी।

भाई का आरोप बहन ने आत्महत्या नहीं की उसे मारा गया

पीएम कराने पहुंचे भाई जितेंद्र ने बताया, निकिता ने शाम करीब 5.15 से मां से आखरी बार फोन पर बात की। उसने सब कुछ ठीक होना बताया। लेकिन छह बजे ससुराल पक्ष से सूचना मिली की बहन नहीं रही। आरोप है बहन ने फांसी नहीं लगाई, उसे मारा गया है। वहीं अन्य परिजन का आरोप है कि गले में फांसी लगने का निशान नहीं दिख रहा। बेटी प्रतिदिन एक बार फोन करती थी। लेकिन घटना दिनांक को उसने कई बार मायके में फोन किया।