स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

11 किलो वजनी चांदी की छड़ी की सुरक्षा के लिए तैनात किया प्राइवेट गार्ड

Hussain Ali

Publish: Aug 22, 2019 09:45 AM | Updated: Aug 21, 2019 16:40 PM

Indore

बंदूक के साए में छड़ी निशान

इंदौर.जन्माष्टमी के अगले दिन गोगा नवमी पर आकर्षक सजावट के साथ शान से छड़ी निशान निकाले जाते हैं। शहर में स्थित वाल्मीकि समाज की बस्तियों से ये निशान निकलते हैं। इस बार कमाठीपुरा में 11 किलो वजनी चांदनी की छड़ी बनाई गई है, जो कि 24 घंटे बंदूक के साए में रहती है। छड़ी की सुरक्षा के लिए प्राइवेट सुरक्षा गार्ड तैनात किया गया है, ताकि चोरी या अन्य कोई घटना न हो जाए।

must read : तालाब में डूबे दो सगे भाई, एकसाथ उठी अर्थी तो रो पड़ा पूरा गांव, एक ही चिता पर अंतिम संस्कार

वीर गोगादेव का जन्मोत्सव 24 अगस्त को धूमधाम से मनाया जाएगा। इस दिन पंढरीनाथ चौराहा स्थित गोगादेव मंदिर पर सुबह से शाम तक जहां विशेष पूजन-अर्चना की जाएगी, वहीं मेला अलग लगेगा। इसके साथ ही वाल्मीकि बस्तियों से निकलने वाले आकर्षक छड़ी निशान सलामी देने के लिए मंदिर पर पहुंचेंगे। आकर्षक सजावट वाले छड़ी निशान को पुरस्कृत भी किया जाएगा। अखाड़ों के उस्ताद-खलिफाओं का सम्मान किया जाएगा।

must read : आंखफोड़वा कांड : दो और पीडि़त आए सामने, तीन की हालत चिंताजनक, एक को तो कुछ नहीं दिख रहा

इधर, गोगादेव के जन्मोत्सव पर निकलने वाले चल समारोह के पहले वाल्मीकि बस्तियों से निकलने वाले छड़ी निशानों में से एक निशान आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। नार्थ कमाठीपुरा में रहने वाले भगत संदीप मोठ के इस निशान की खासियत यह है वह पूरा चांदी का है। इसमें 11 किलो चांदी का उपयोग हुआ है। इसकी सुरक्षा के लिए मोठ ने निजी बंदूकधारी सुरक्षा गार्ड तैनात किया है जो कि पिछले एक माह से छड़ी निशान की सुरक्षा कर रहा है। गार्ड छड़ी के पास ही बंदूक लेकर बैठा रहता है। २४ घंटे सुरक्षा के लिए गार्ड 15 हजार रुपए में नियुक्त किया गया है।