स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

निगमकर्मियों ने सरेराह महिलाओं पर बरसाए डंडे, भोपाल पहुंचा VIRAL VIDEO तो दो सुपरवाइजर निलंबित

Hussain Ali

Publish: Aug 22, 2019 13:59 PM | Updated: Aug 22, 2019 13:59 PM

Indore

- सडक़ पर लग रहे थे ठेले हटाने के दौरान हुआ विवाद
- नगरीय प्रशासन विभाग के अफसरों ने लिया संज्ञान
- निगम कर्मचारी हुए लामबंद

इंदौर. एमआर-10 स्थित चंद्रगुप्त चौराहे पर सब्जी के ठेलों के कारण यातायात बाधित होने की शिकायत के बाद नगर निगम की टीम यहां कार्रवाई करने पहुंची, लेकिन यहां ठेले हटाने के दौरान विवाद इतना बढ़ गया कि पहले पत्थर चले बाद में नगर निगम के अमले ने बचाव के लिए मारपीट तक की। इस दौरान महिलाओं के साथ भी मारपीट करने के चलते दो निगम कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया।

चंद्रगुप्त चौराहे के पास लग रहे इन सब्जी के ठेलों को लेकर पार्षद ने शिकायत की थी। जिसके बाद मंगलवार शाम को नगर निगम की रिमूवल टीम यहां पर कार्रवाई करने गई थी। निगम के अमले ने जब ठेले को हटाना शुरू किया तो दुकान मालिक ने विवाद शुरू कर दिया। कुछ ही देर में उसके समर्थन में बड़ी संख्या में महिलाएं और अन्य लोग भी इकट्ठा हो गए। इसी बीच यहां पर पथराव भी शुरू हो गया, जिसके चलते यहां ठेले हटाने गई टीम और दुकानदारों के बीच हाथापाई शुरू हो गई।

 

निगमकर्मियों ने सरेराह महिलाओं पर बरसाए डंडे, भोपाल पहुंचा VIRAL VIDEO तो दो सुपरवाइजर निलंबित

निगम के अमले में मौजूद कर्मचारियों ने इस दौरान महिलाओं के साथ भी मारपीट की। इस घटना का वीडियो भोपाल में नगरीय प्रशासन विभाग के अफसरों को कुछ लोगों ने भेज दिया था। जिसके बाद भोपाल से ही वरिष्ठ अफसरों ने ये वीडियो नगर निगम आयुक्त आशीष सिंह को भेजते हुए उनसे जवाब-तलब किया था। साथ ही इस घटना में जिम्मेदारों पर कार्रवाई के लिए निर्देश जारी किए थे।

निगमकर्मियों ने सरेराह महिलाओं पर बरसाए डंडे, भोपाल पहुंचा VIRAL VIDEO तो दो सुपरवाइजर निलंबित

भोपाल से निर्देश आते ही दो निलंबित

भोपाल से आए निर्देशों के चलते तुरंत ही निगमायुक्त ने रिमूवल विभाग के दो सुपरवाइजर्स अनिल शर्मा और दिनेश जूनवाल को निलंबित कर दिया और इसकी सूचना भोपाल भेज दी। वहीं निलंबन की जानकारी जैसे ही रिमूवल विभाग के अफसरों को लगी उन्होने भी अपना पक्ष रखते हुए निगमायुक्त को बताया कि कार्रवाई के दौरान महिलाओं ने पत्थर चलाना शुरू कर दिए थे, जिसके चलते टीम के सदस्य उन्हें रोक रहे थे, लेकिन वो नहीं मान रही थी। वीडियो में नगर निगम के कर्मचारियों को पीटते हुए दिख रहे थे। हालांकि निगमायुक्त ने महिलाओं पर हाथ उठाने को गलत माना है।

- घटना के समय जो भी परिस्थिति रही हो वो जांच का विषय हो सकता है, लेकिन महिलाओं के साथ मारपीट गलत है। इसके चलते निलंबन की कार्रवाई की गई है। वहीं नगर निगम की टीम के साथ जिन लोगों ने मारपीट की है, हम उनके खिलाफ भी कार्रवाई करेंगे।

- आशीष सिंह, निगमायुक्त