स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मुन्नाभाई ने दी पुलिस भर्ती परीक्षा, फिंगर प्रिंट से पकड़ाया फर्जीवाड़ा

Hussain Ali

Publish: Aug 19, 2019 10:31 AM | Updated: Aug 19, 2019 10:31 AM

Indore

रिपोर्ट से 2016 का फर्जीवाड़ा उजागर, केस दर्ज

इंदौर. पुलिस भर्ती परीक्षा 2016 का एक और फर्जीवाड़ा उजागर हुआ है। फिंगर प्रिंट जांच से पता चला कि परीक्षा किसी और ने दी और भर्ती करने कोई और आ गया था। विजयनगर टीआई तहजीब काजी के मुताबिक, मेनपाल पिता सूबेसिंह निवासी हरियाणा के खिलाफ धोखाधड़ी की धाराओं में केस दर्ज हुआ है।

पुलिस विभाग में एएसआई (कम्प्यूटर)/प्रधान आरक्षक व आरक्षक पद के लिए भर्ती परीक्षा वर्ष 2016 में आयोजित की थी। प्रेस्टिज इंस्टिट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट एंड रिसर्च स्कीम न. 74 भी सेंटर बना था। यहां परीक्षा देकर मेनपाल चयनित हुआ। परीक्षा के समय फिंगर प्रिंट लिए थे। नौकरी ज्वाइन के समय फिंगर प्रिंट मिलान के लिए भेजे तो मैच नहीं हुए। प्रथम वाहिनी विशेष बल के सेनानी ने जांच की तो खुलासा हुआ कि परीक्षा किसी और ने यानी मुन्नाभाई ने दी और नौकरी ज्वाइन करने दूसरा व्यक्ति आया था। जांच रिपोर्ट के आधार पर केस दर्ज हुआ है, अभी गिरफ्तारी नहीं हुई है। वर्ष 2016 की परीक्षा में तीन परीक्षार्थियों द्वारा फर्जीवाड़ा करने का केस गत दिनों छोटी ग्वालटोली पुलिस ने दर्ज किया था।