स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

6 छात्रों की करतूत : टीचर्स से बदतमीजी के साथ गर्ल्स वॉशरूम में करते थे ऐसा ‘गंदा’ काम

Hussain Ali

Publish: Sep 20, 2019 19:06 PM | Updated: Sep 20, 2019 19:06 PM

Indore

स्कूल ऑफ कॉमर्स के 6 छात्रों का विभाग में प्रवेश प्रतिबंधित, बच्चों की हरकत पर पालकों ने मांगी माफी

अभिषेक वर्मा @ इंदौर. देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ कॉमर्स में पढऩे वाले 6 छात्रों पर अनुशासन समिति ने कार्रवाई की है। ये छात्र 15 दिनों तक विभाग में नजर नहीं आएंगे। इन छात्रों पर फैकल्टी व स्टाफ के साथ बदतमीजी करने के साथ गल्र्स वॉशरूम और कॉरिडोर में पैपर स्प्रे करने का आरोप था। जांच में आरोप साबित होने के बाद अनुशासन समिति ने सभी को प्रतिबंधित कर दिया। शुक्रवार को 6 में से 2 छात्रों के पालकों ने विभाग पहुंचकर बच्चों की हरकत पर माफीनामा लिखकर दिया।

must read : लूट के लिए बैंक फाइनेंस कर्मचारी की आंख में डाली मिर्च, पत्थर से सिर फोड़ा

स्कूल ऑफ कॉमर्स के एमबीए एफटी नौवें सेमेस्टर के रोशन वैद्य, बलविंदर सिंह रूपाना, यश डावरे, विक्रम दांगी, अंकुश सागोरे व सातवें सेमेस्टर के रोहित चौहान पर कार्रवाई हुई। वे लगातार विभाग में अनुशासनहीनता कर रहे है। ये छात्र अन्य छात्र व विभाग के स्टाफ से बोलचाल में निम्न दर्जे की भाषा का इस्तेमाल करने के साथ बदतमीजी करने से पीछे नहीं हटते। जन्मदिन और अन्य उत्सव के नाम पर आए दिन विभाग में हल्ला, हंगामा करते रहते है।

6 छात्रों की करतूत : टीचर्स से बदतमीजी के साथ गर्ल्स वॉशरूम में करते थे ऐसा ‘गंदा’ काम

इन छात्रों पर गर्ल्स वॉशरूम, कॉरिडोर और क्लासरूम में पैपर स्प्रे (काली मिर्च का स्प्रे) करने की शिकायत के बाद विभाग ने अनुशासन समिति को जांच सौंपी थी। समिति ने स्टाफ, फैकल्टी व छात्रों के बयान और सीसीटीवी फुटेज के आधार पर 6 छात्रों की पहचान की। विभागाध्यक्ष प्रो.प्रीति सिंह ने इन छात्रों को 15 दिनों के लिए प्रतिबंधित करते हुए शुक्रवार को पालकों को तलब किया था। लेकिन, सिर्फ दो ही छात्र के पालक विभाग पहुंचे। विभागाध्यक्ष ने बाकी छात्रों को पालकों के साथ आने के लिए सोमवार तक की मोहलत दी है।

must read : ऑटो से सवारी छोडऩे के बहाने बेचता था ब्राउन शुगर की पुडिय़ा, छात्रों को बना रहे ग्राहक

खांसते-खांसते आ जाते आंसू

पैपर स्प्रे के छिडक़ाव के कारण विभाग के कर्मचारी व फैकल्टी भी परेशान हो गए है। आमतौर पर लड़कियां अपनी सुरक्षा के लिए पैपर स्प्रे का इस्तेमाल करती है। लडक़े विभाग में सभी को परेशान करने के लिए अकसर इसे कॉरिडोर और वॉशरूम में स्प्रे करते। इसकी चपेट में आने वालों का सांस लेना मुश्किल हो जाता। कई बार तो खांसते-खांसते उनकी आंखों में आसू ही आ जाते। कर्मचारी पहले भी कई बार विभागाध्यक्ष को इसकी शिकायत कर चुके थे। गर्ल्स वॉशरूम में स्प्रे करने के बाद प्रबंधन ने इसे गंभीरता से लिया।

must read : हाथों में बारिश से खराब फसल लेकर पहुंचे भाजपा कार्यकर्ता, सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

सेलिब्रेशन पर भी लगी रोक

अनुशासन समिति में विभाग में बर्थडे सेलिब्रेशन व अन्य किसी मौके पर केक काटने और हंगामे पर भी रोक की अनुशंसा की है। इसके पीछे सेलिब्रेशन के दौरान होने वाला शोर-शराबा और सेलिब्रेशन के बाद विभाग में होने वाली गंदगी को कारण बताया गया।

अनुशासन समिति ने एमबीए एफटी के 6 छात्रों को अनुशासनहीनता का दोषी मानते हुए कार्रवाई की है। सीसीटीवी फुटेज में भी ये छात्र नजर आए है। कर्मचारी और फैकल्टी पहले भी इनके द्वारा अनुशासनहीनता की शिकायत कर चुके है। इनके पालकों को विभाग में बुलाया गया था। जो छात्र पालकों को नहीं लाए उन्हें सोमवार तक का समय दिया है। सभी से माफीनामा लिखवाया जाएगा।

- प्रो.प्रीति सिंह, विभागाध्यक्ष, स्कूल ऑफ कॉमर्स