स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

रीगल टाकीज पर पहरा दे रहे निगम के 24 कर्मचारी, खड़े हो रहे ये सवाल !

Hussain Ali

Publish: Sep 20, 2019 16:58 PM | Updated: Sep 20, 2019 16:58 PM

Indore

नगर निगम ने रीगल टॉकीज पर कब्जा लेने के बाद वहां 24 कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई।

इंदौर. नगर निगम ने रीगल टॉकीज पर कब्जा लेने के बाद वहां 24 कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई। ये तीन शिफ्टों में 24 घंटे ड्यूटी दे रहे हैं। इस पर सवाल खड़े होने लगे हैं कि कब्जा लेने के बाद भी निगम इसे तोडऩे की कार्रवाई क्यों नहीं कर रहा है।

must read : 50 से ज्यादा लोगों को हुआ डेंगू, MP में कांगो बुखार का भी अलर्ट, डॉक्टरों की चिंता बढ़ी

आखिर निगम को किसका इंतजार है जो रिमूवल से बच रहा है और इतने कर्मचारियों को वहां पहरे के लिए बैठा रखा है, जबकि स्मार्ट सिटी की सडक़ें हों या कोई अन्य मामला, कोर्ट से स्टे खारिज होते ही निगम तोडफ़ोड़ शुरू कर देता है। पर टॉकीज को हटाने की कार्रवाई नहीं की जा रही। बताया जा रहा है कि पिछली बार भी निगम ने जब लीज निरस्त करने के बाद निगम ने कब्जा लिया था, तो एक महीने तक कोई कार्रवाई नहीं की थी। इसके बाद सिनेमा प्रबंधक स्टे ले आये और एक महीने बंद रहने के बाद टॉकीज फिर शुरू हो गया था।

must read : हाथों में बारिश से खराब फसल लेकर पहुंचे भाजपा कार्यकर्ता, सरकार के खिलाफ की नारेबाजी

क्या दिखावे के लिए लिया है कब्जा?

माना जा रहा है कि निगम ने कब्जा जरूर ले लिया है, लेकिन वह दिखावे के लिए ही है। दबाव-प्रभाव के चलते रिमूवल कार्रवाई नहीं कर पा रहा, ताकि टॉकीज प्रबंधन को समय मिल जाए। टॉकीज प्रबंधन हाईकोर्ट डबल बेंच या सुप्रीम कोर्ट में जाने की तैयार कर ही रहा है। यदि वहां से स्टे मिल जाता है तो निगम को एक बार फिर मुंह की खाना पड़ेगी और टॉकीज के ताले खोलने पड़ सकते हैं। चर्चा है कि इसीलिए निगम फिलहाल तोडफ़ोड़ की कार्रवाई टाल रहा है, ताकि टॉकीज प्रबंधन को लाभ मिल सके।

ये है पूरा मामला

पिछले 39 वर्ष से रीगल टॉकीज पर कब्जे को लेकर कानूनी लड़ाई चली आ रही थी। कब्जा लेने के लिए निगम लीज शाखा ने लोक परिसर बेदखली अधिनियम के तहत एसडीएम कोर्ट में जो अर्जी लगाई थी, उसे स्वीकार करने के साथ 48 घंटे में टॉकीज प्रबंधन को जगह खाली करने लिए कहा गया। 7 सितंबर 2019 को शाम को इस आदेश के निकलने के बाद रात को रीगल टॉकीज पर आरआई ने नोटिस चस्पा कर दिया था।