स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

सीएम बनने के बाद वाईएसआर ने सबसे पहले वृद्धावस्था पेंशन पर किए हस्ताक्षर, पेशन राशि में इतनी बढ़ोतरी कर दिया बुजुर्गों को उपहार

Prateek Saini

Publish: May 31, 2019 19:41 PM | Updated: May 31, 2019 19:41 PM

Hyderabad

आते ही किया चार आईएएस अफसरों का तबादला...

(हैदराबाद): आंध्र प्रदेश के नव निर्वाचित मुख्यमंत्री वायएसआर जगन के शपथग्रहण के बाद बाद सबसे पहले वृद्धावस्था पेंशन योजना से संबंधित फाइल पर दस्तखत किए। साथ ही, वाईएस जगन ने एनटीआर भरोसा पेंशन योजना का नाम बदल कर वाईएसआर पेंशन कानुका योजना रख दिया है।


वाईएसआरसीपी सरकार ने घोषणा की कि 2 हजार रूपए की वृद्धावस्था पेंशन को बढ़ा कर 2,250 रुपए कर दिया गया है। यह बढ़ी हुई पेंशन 1 जून से लागू होगी। इसके अलावा, नियमित अंतराल पर पेंशन राशि में 250 रुपए की बढ़ोतरी की जाएगी। वृद्धावस्था पेंशन पात्रता आयु सीमा 65 से घटाकर 60 वर्ष कर दी गई है। वाईएस जगन ने कहा की वृद्धावस्था पेंशन में बढ़ोतरी के साथ विकलांगों के लिए 3000 रुपए और किडनी पीड़ितों के लिए 10,000 रुपए तक पेंशन प्रदान की जाएगीष मुख्यमंत्री वाईएस जगन ने आगे कहा कि उनकी सरकार घोषणापत्र में वादा की गई हर योजना को लागू करेगी तथा आंध्र की जनता को निराश नहीं करेगी।

 

आते ही किया चार आईएएस अफसरों का तबादला

बता दें कि वाई एस जगन मोहन रेड्डी ने गुरूवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। सीएम बनते ही जगन मोहन एक्टिव मोड़ में आ गए। सीएम ने चार आईएएस अफसरों के तबादले कर दिए। मिली जानकारी के अनुसार वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं की ओर से इन सभी अफसरों पर टीडीपी कार्यकर्ताओं के इशारों पर काम करने का आरोप लगाया गया था।