स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हुब्बल्ली रेलवे स्टेशन पर अगले माह से नहीं आएंगी मालगाडिय़ां

Zakir Pattankudi

Publish: Jul 20, 2019 19:55 PM | Updated: Jul 20, 2019 19:55 PM

Hubli

हुब्बल्ली रेलवे स्टेशन पर अगले माह से नहीं आएंगी मालगाडिय़ां
-बाईपास मार्ग से परिवहन करेंगी गुड्स टे्रनें
हुब्बल्ली

हुब्बल्ली रेलवे स्टेशन पर अगले माह से नहीं आएंगी मालगाडिय़ां
हुब्बल्ली
अगले माह से हुब्बल्ली रेलवे स्टेशन पर मालगाडिय़ां नहीं आएंगी।
आगामी दिनों में मालगाडिय़ां हुब्बल्ली के बाहरी इलाके में निर्मित बाईपास मार्ग के जरिए परिवहन करेंगी।
मालगाडिय़ों की आवाजाही से हुब्बल्ली रेलवे स्टेशन पर हो रहे दबाव को घटाने के लिए शुरू किया गया बाईपास निर्माण कार्य पूर्ण होने के स्तर पर है। अगस्त में बाईपास रेलमार्ग पूरा होगा और अगस्त के आखिर में या फिर सितम्बर के आरम्भ में मालगाडिय़ां बाईपास के जरिए परिवहन आरम्भ करेंगी।


65 करोड़ रुपए की योजना

कुसुगल के पास के रेलवे स्टेशन से अमरगोल रेलवे स्टेशन तक 23 किलोमीटर लंबा रेल दोहरीकरण मार्ग 65 करोड़ रुपए की लागत से तैयार किया गया है। दक्षिण पश्चिम रेलवे हुब्बल्ली मंडल ने नवंबर 2016 में इस कार्य को शुरू किया था। समयसीमा से पहले ही कार्य पूरा किया गया है। निर्धारित समयसीमा के अनुसार नवम्बर 2019 को कार्य पूरा होना था परन्तु तीन माह पहले ही कार्य पूरा हुआ है। बाईपास मार्ग पर दो रेलवे ओवरब्रिज, सात अंडरपास, 19 छोटे पैमाने के पुल, दो स्टेशन (बाईपास कैबिन), मानव रहित दो रलवे गेट समेत अन्य कार्य पूरे हो चुके हैं।


समय की बचत होगी


हुब्बल्ली जंक्शन में यात्री ट्रेनों के परिवहन तथा ठहराव अधिक होने से मालगाडिय़ों के परिवहन के लिए जल्दी हरी झंड़ी नहीं मिल रही थी। इसके चलते मालगाडिय़ां देर से चल रही थीं। बाईपास मार्ग निर्माण से मालगाडिय़ां हुब्बल्ली जंक्शन को नहीं आने से यात्री ट्रेनों के परिवहन में भी अत्यधिक समय की बचत होगी। होसपेट, वास्को, बेंगलूरु, मुंबई आदि जगहों को प्रतिदिन रवाना होने वाली 10 से 15 मालगाडियां हुब्बल्ली जंक्शन के बजाए बाईपास के जरिए परिवहन करेंगी।


इनका कहना है


बाईपास निर्माण कार्य अगस्त के आखिर में पूरा होकर मालगाडिय़ों का परिवहन आरम्भ होगा। आगामी दिनों में मालगाडिय़ां हुब्बल्ली जंक्शन को नहीं आकर बाईपास पर ही परिवहन करेंगी। इससे मालगाडिय़ों तथा यात्री ट्रेनों के परिवहन में समय की बचत होगी।
-ई. विजया, मुख्य सार्वजनिक जनसंपर्क अधिकारी, दपरे