स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पाढ़ पीडि़तों का किया इलाज

Zakir Pattankudi

Publish: Aug 17, 2019 20:23 PM | Updated: Aug 17, 2019 20:23 PM

Hubli

पाढ़ पीडि़तों का किया इलाज
-पूर्व मंत्री एमबी पाटील ने कहा
विजयपुर/हुब्बल्ली

पाढ़ पीडि़तों का किया इलाज
-पूर्व मंत्री एमबी पाटील ने कहा
विजयपुर/हुब्बल्ली
विधायक एवं पूर्व मंत्री एमबी पाटील ने कहा कि बीएलडीई संस्था के बीएम पाटील चिकित्सा कालेज तथा अस्पताल के छह दल बाढ़ प्रभावित इलाकों में जाकर पीडि़तों का इलाज किया है।
विजयपुर में शनिवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए पाटील ने कहा कि चिकित्सकों के छह दल गठित किए गए थे। जिला प्रशासन की ओर से बताई जगह पर जाकर में सेवा दी है। इसे जारी रखा जाएगा। यह हमारी सामाजिक प्रतिबध्दता तथा कर्तव्य है।

सबको मिलकर कार्य करना चाहिए

उन्होंने कहा कि चिक्कगलगली, बबलाद समेत तीन-चार गांवों में फसल तथा 60 घरों को नुकसान हुआ है। भू-अधिग्रहण नहीं किए इलाके में किसानों ने फसल बोया है, उन्हें मुआवजा देना सरकार का कर्तव्य है। 1995 में भू-पीडि़तों को मुआवजा दिया गया था परन्तु उन्होंने राशि को खर्च किया है। इसके चलते इन सभी को पुनर्वास उपलब्ध करना चाहिए। डूबने वाले इलाकों को स्थाई तौर पर स्थानांतरण करने की जरूरत है। पीडि़तों ने अस्थाई तौर पर 18 गुणा 17 फीट का शेड निर्माण करके देने की मांग कर रहे हैं। शौचालय, स्नानगृह, शुध्द पेयजल उपलब्ध करना चाहिए। इस बारे में संपूर्ण अध्ययन कर मुख्यमंत्री के साथ चर्चा की जाएगी। हम विपक्ष में रहने के बावजूद इस मुद्दे पर सरकार का साथ देंगे। पीडि़तों को राहत उपलब्ध करने में केंद्र सरकार की भूमिका महत्वपूर्ण है। मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा ने बयान दिया है कि 40 हजार करोड़ रुपए की फसल नुकसान हुई है। समीक्षा पूरी नहीं होने पर भी उन्हें जानकारी रहती है। इसके चलते पार्टी मतभेद को भुलाकर हम सबको मिलकर कार्य करना चाहिए।

खेद व्यक्त किया

एमबी पाटील ने खेद व्यक्त करते हुए कहा कि फोन टैपिंग मामले में विधायक डीके शिवकुमार के बयान को इलेक्ट्रॉनिक मीडिया ने गलत तौर पर पेश किया इसके चलते उन्होंने (एमबी पाटील) भी गलत बयान दिया। डीके शिवकुमार ने जातिगत राजनीति कर रहे हैं कह कर पूर्व गृहमंत्री आर अशोक के बारे में बयान दिया है। डीके शिवकुमार तथा हमारे बीच प्रेम ज्यादा है। अक्सर हमारे बीच जुगलबंदी होती रहती है। डीके शिवकुमार ने हमें संबोधित करके बयान नहीं दिया है। मीडिया पर विश्वास करके हमने बयान दिया। इसके चलते डीके शिवकुमार को फोन करके माफी मांगी जाएगी।

सच्चाई का पता चलना चाहिए

डीके शिवकुमार ने हम पर राजनीति करने का आरोप लागते हुए बयान देने का समाचार प्रसारित कर मीडिया वालों में हमसे प्रतिक्रिया ली। मीडिया ने गलत किया है। हमारे बयान की जरूरत नहीं थी। हमारे निजी सचिव भीमा शंकर, विशेष अधिकारी शशि हिरेमठ के फोन को टैपिंग किया है कह कर कुछ समाचार चेनलों में प्रसारित किया गया है। इसके चलते उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए। राज्य की जनता को सच्चाई का पता चलना चाहिए।

राष्ट्रीय आपदा घोषित करे

एमबी पाटील ने कहा कि राज्य में बाढ़ से जनता त्रस्त है, करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है। इसके चलते केंद्र सरकार को इसे राष्ट्रीय आपदा घोषित करनी चाहिए। महाराष्ट्र की तर्ज पर बाढ़ पीडि़तों को पहली किश्त के तौर पर 15 हजार रुपए का मुआवजा देना चाहिए। घरों के निर्माण के लिए दस लाख रुपए की मदद देनी चाहिए। घर का निर्माण करने वालों को हर माह दस हजार रुपए किराया देना चाहिए।