स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

करंट से पांच छात्रों की मृत्यु

Zakir Pattankudi

Publish: Aug 18, 2019 19:46 PM | Updated: Aug 18, 2019 19:46 PM

Hubli

करंट से पांच छात्रों की मृत्यु
-मुख्यमंत्री ने की परिजनों को पांच लाख रुपए मुआवजे की घोषणा
कोप्पल

करंट से पांच छात्रों की मृत्यु
कोप्पल
शहर के बन्नीकट्टी स्थित बीसीएम हॉस्टल में स्वाधीनता दिवस पर ध्वजारोहण के लिए खड़ा किया गया खंभा हटाने के दौरान वह खंभा बिजली के तार पर गिर गया। इससे खंभे में प्रवाहित हुए करंट से पांच छात्रों की मृत्यु हुई है।
कोप्पल के देवराज अरस मैट्रिक पूर्व छात्रावास में यह हादसा हुआ है। मृतक छात्रों की पहचान मेतगल गांव का दसवीं कक्षा का छात्र मल्लिकार्जुन (16 ), लिंगदल्ली गांव का दसवीं का छात्र बसवराज (16 ), हलगेरी गांव का नौवीं कक्षा का छात्र देवराज (15), लाचनकेरी गांव का आठवीं कक्षा का छात्र गणेश (14), हैदर नगर का नौवीं कक्षा का छात्र कुमार (15) के तौर पर की गई है। मृतक छात्र छात्रावास में रहकर पढ़ाई करने वाले 14 से 15 वर्ष की आयु के हैं।
स्वतंत्रता दिवस के ध्वजारोहण के लिए डिब्बे में मिट्टी भरकर खंभा लगाया गया था। खंभा हटाने के दौरान संतुलन बिगडऩे से बगल में ही स्थित बिजली की सर्विस तार पर पड़ा। खंभे के गिरते ही करंट फैला और पांच छात्रों की मृत्यु हुई। पहले एक छात्र को करंट लगा इसकी रक्षा के लिए गए चारों छात्रों को भी करंट लगा। एक दूसरे को बचाने गए कुल पांच छात्रों की मृत्यु हुई। कोप्पल शहर थाना पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच की।
मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा ने मृतक छात्रों के परिजनों को पांच लाख रुपए मुआवजे की घोषणा की है। सोमवार को ही मुआवजा राशि देने के निर्देश दिए हैं।

अभिभावकों ने किया प्रदर्शन

छात्रावास से छात्रों के शवों को जिला अस्पताल पहुंचाया जहां इनके परिजनों का विलाप हर किसी को दहला देने वाला था। पुलिस, दमकल कर्मी, जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी मौके पर पहुंच कर जायजा लिया। मृतक छात्रों के अभिभावक विभिन्न गांवों से जिला अस्पताल को आए और छात्रावास कर्मचारियों के खिलाफ आक्रोश व्यक्त किया। जिला मुर्दाघर के सामने अभिभावकों ने प्रदर्शन किया।
सांसद संगण्णा करडी, अमरेश करडी, राजशेखर हिट्नाल मौके पर पहुंचकर मृतकों के परिजनों को सांत्वना दी।