स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

केंद्र सरकार के इशारे पर जांच ना करे सीबीआई

Zakir Pattankudi

Publish: Aug 18, 2019 19:55 PM | Updated: Aug 18, 2019 19:55 PM

Hubli

केंद्र सरकार के इशारे पर जांच ना करे सीबीआई
-विधान परिषद सदस्य होरट्टी ने चेताया
हुब्बल्ली

केंद्र सरकार के इशारे पर जांच ना करे सीबीआई
हुब्बल्ली
विधान परिषद सदस्य एवं पूर्व मंत्री बसवराज होरट्टी ने कहा है कि फोन टेपिंग मामले की जांच सीबीआई को सौंपना स्वागतयोग्य है परन्तु सीबीआई को केंद्र सरकार के इशारे पर जांच नहीं करनी चाहिए।
शहर में रविवार को पत्रकारों से बातचीत में होरट्टी ने कहा कि पिछले कई दिनों से फोन टेपिंग मामले की जांच कराने की सभी पार्टियों ने मांग की थी। अब सीबीआई को मामला सौंपा है जिसका वे स्वागत करते हैं। केंद्र तथा राज्य में भाजपा सत्ता में है, इसके चलते उन्हें लाभ होगा जानकर सीबीआई को सौंपा है परन्तु किसी भी कारण सीबीआई को केंद्र सरकार को देखकर जांच नहीं करनी चाहिए। सीबीआई को सौंपने से निष्पक्ष जांच नहीं होगी। राज्य में कई विभाग हैं, उनसे जांच करवानी चाहिए थी। इसके नतीजे आने के बाद देखेंगे क्या होगा।

अब राजनीति बहुत गंदी हो गई

होरट्टी ने कहा कि केवल अभी का ही नहीं पूर्व में हुए सभी घटनाओं की जांच सीबीआई सौंपनी चाहिए। पूर्व में भाजपा की सरकार में इस प्रकार फोन टेप किए गए। उस दौरान आर. अशोक तथा जगदीश शेट्टर खामोश बैठे थे। फोन टेपिंग मामले को सीबीआई सही तौर पर जांच करेगी तो ऑपरेशन कमल का मुद्दा उजागर होगा। अब राजनीति बहुत गंदी हो गई है, एक बार सच्चाई बाहर आनी चाहिए।

कुमारस्वामी पर आरोप लगाना सही नहीं

उन्होंने कहा कि फोन टेपिंग करने का मुख्यमंत्री को अधिकार है, वह भी देश तथा राज्य को खतरा होने पर ही है। फोन टेपिंग करने पर सीबीआई क्या जेल भेजेगी। इस मामले की जांच शेर आया शेर आया की कहावत जैसी नहीं होनी चाहिए। मोदी बहुत बात करते हैं अब इसे साफ करें। बिना तथ्य के एचडी कुमारस्वामी पर आरोप लगाना सही नहीं है।