स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

प्यार में मिला धोखा, ब्रेस्ट पर जहर लगा मां ने दी बच्चे को मौत

Pratibha Tripathi

Publish: Sep 11, 2019 14:00 PM | Updated: Sep 11, 2019 14:01 PM

Hot on Web

  • प्यार में मिले धोखे से चोट खाई मां ने किया, अपने चार बच्चों का कत्ल
  • प्यार में मिले धोखे से दुखी मां ने किया, अपने चार बच्चों का कत्ल

नई दिल्ली। कहते है पुत्र कुपुत्र हो सकता है, पर माता नही हो सकती कुमाता.. पर इस बात को गलत साबित कर दिया है इस कातिल मां नें। जिसने अपने निजी स्वार्थ के कारण अपने चार बच्चों को मौत के घाट उतार दिया। दिल दहला देने वाली यह घटना साउथ अफ्रीका के Mpumalanga की है 4 बच्चों की हत्या करने वाली इस मां का नाम Zinhle Maditla है।
बताया जाता है कि महिला का अफेयर अपने पूर्व बॉयफ्रेंड के साथ काफी दिनों से चल रहा है इसी बीच उसका रिलेेशन किसी अन्य लड़की से होने जाने कारण दोनों के बीच काफी झगड़ा हुआ। अपने पार्टनर से मिले धोखे को वह बर्दाश्त नही कर पाई। और गुस्से में आकर इसने अपने 11 महीने के बच्चे को ब्रेस्ट फीडिंग के दौरान जहर देकर मार डाला। इस महिला के उपर एक बच्चे की ही नही, बल्कि एक-एककर अपने कुल 4 बच्चों की हत्या करने का आरोप लगा है

चार बच्चों की हत्या करने के बाद यह महिला खुद ही वहां के पुलिस स्टेशन पहुंची थी। जिन बच्चों की हत्याएं की गई थी उनमें दो बच्चियां जिनकी उम्र 4 और 8 साल की, और 7 साल का एक बच्चा तथा 11 महीने का एक दुधमुंहा भी शामिल था ।पुलिस की हिरासत में आने के बाद अब हाल ही में हुई सुनवाई के दौरान जज ने माडिट्ला को 4 हत्याओं का दोषी पाया। अदालत में महिला ने बताया कि जब उसे पता चला कि उसका पार्टनर किसी अन्य महिला के साथ रिलेशनशिप में है तो इस बात को सुनने के बाद उसने चारों बच्चों की हत्या करने की योजना बनाई। महिला ने घर में आकर एक वेंडर से चूहों को मारने वाला जहर खरीदा । फिर इस जहर को आचार और रोटी में मिलाकर अपने तीनों बच्चों को खिला दिया। और नवजात बच्चे को मारने के लिये उसनेेेे अपने ब्रेस्ट में जहर लगाकर उसे भी मौत के घाट उतार दिया।

अदालत ने इस महिला को दोषी करार दे दिया है। जिस समय अदालत में सुनवाई की जा रही थी उस दौरान वकील ने जज से कहा था कि जिन परिस्थितियों में महिला ने यह हत्याएं कि उन्हें देखकर ऐसा लगता है कि महिला की दीमागी हालत ठीक नही है इसे इलाज की जरुरत है महिला को हालत देखते हुये अदालत ने महिला को मानसिक इलाज के लिए भेजने का आदेश दे दिया है।