स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

दमोह के बाद उत्तराखंड में भी टीचर की विदाई पर फूट-फूटकर रोए लोग, ऐसे किया रुखसत

Soma Roy

Publish: Aug 25, 2019 12:29 PM | Updated: Aug 25, 2019 12:30 PM

Hot on Web

  • Government teacher farewell : उत्तरकाशी के बनखोली में बने गवर्नमेंट इंटर कॉलेज में तैनात थे आशीष दंगवाल
  • पिछले तीन साल से कॉलेज में थे कार्यरत, दूसरे जिले में हुआ ट्रांसफर

नई दिल्ली। एक समय जहां सरकारी स्कूल टीचर्स के नदारत रहने के चलते बदनाम था। अब वहीं स्कूल शिक्षकों के निष्ठावान काम और स्टूडेंट्स से उनके जुड़ाव के लिए जाना जा रहा है। हाल ही में दमोह के एक सरकारी स्कूल में हुए शिक्षक के विदाई समारोह में गांव वाले भावुक हो गए थे। ऐसा ही नजारा उत्तराखंड के एक सरकारी कॉलेज में भी देखने को मिला। जहां शिक्षक आशीष दंगवाल को अलविदा कहने के दौरान छात्र फूट-फूटकर रोने लगे।

कलेक्टर नहीं दे सका दूसरों को नौकरी तो खोल दिया अपना कैफे, ऐसे कर रहें लोगों की मदद

मामला उत्तरकाशी के बनखोली गांव के गवर्नमेंट इंटर कॉलेज का है। यहां आशीष दंगवाल साल 2017 दिसंबर से सहायक शिक्षक के पद पर तैनात थे। इस कॉलेज में 7 गांवों के लगभग 200 विद्यार्थी पढ़ते हैं। हाल ही में दंगवाल के दूसरे जिले में हुए ट्रांसफर की खबर सुनकर स्टूडेंट्स भावुक हो उठे। वो इस बात का यकीन नहीं कर पा रहे थे कि उनके पसंदीदा शिक्षक उनसे दूर चले जाएंगे।

dangwal.jpg

दंगवाल के विदाई समारोह के दौरान उनसे मिलने के लिए सात गांवों के स्टूडेंट्स कॉलेज में इकट्ठा हो गए। वे अपने शिक्षक से लिपटकर फूट-फूटकर रोने लगे। उन्हें ऐसी हालत में देख शिक्षक भी खुद के आंसुओं पर काबू नहीं रख सके। उन्होंने बताया कि वे पिछले तीन साल से इस स्कूल में पढ़ा रहे थे। सभी विद्यार्थी और उनके घरवाले उन्हें परिवार का ही एक सदस्य मानते थे। तभी उनके ट्रांसफर की खबर सुनकर उन्हें यकीन नहीं हो रहा था। दंगवाल को अलविदा कहने के लिए गांव वालों ने ड्रम बजाकर उनका अभिवादन किया।