स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ट्विटर पर छाया #PottersKiDiwali आप कौन से दिये खरीद रहे हैं, देसी या फिर विदेशी?

Prakash Chand Joshi

Publish: Oct 22, 2019 11:27 AM | Updated: Oct 22, 2019 11:27 AM

Hot on Web

  • लोगों ने सोशल मीडिया पर दी प्रतिक्रियाएं

नई दिल्ली: दीवाली का त्यौहार अब बस आने ही वाला है। हफ्ते की शुरुआत हो चुकी है। हर तरफ दीवाली की तैयारियां जोरों शोरों से चल रही है। घरों से लेकर दफ्तरों तक सफाई अभियान चल रहा है। हर एक जगह को रौशन किया जा रहा है। ऐसे में सवाल सिंपल सा है कि आप इस दीवाली अपने घर या अन्य जगहों को रौशन कैसे करेंगे? यानि आप कौन से दिये खरीद रहे हैं? क्योंकि ट्विटर पर तो इसको लेकर मुहिस शुरू हो गई है।

diya1.pngdiya2.png

दरअसल, ट्विटर पर #PottersKiDiwali हैशटैग काफी ट्रेंड कर रहा है। ये हैशटैग इसलिए चर्चा में आया है क्योंकि लोग जानना चाहते हैं कि आप देश कुम्हारों की कैसे मदद कर रहे हैं क्योंकि उनकी चक्की तेज घूम रही है और वो दिये बना रहे हैं, लेकिन क्या आप उन्हें खरीदेंगे या फिर चाइनीज लाइटों को महत्व देंगे। इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि बीते कुछ सालों से बाजार में दिवाली के मौके पर पारंपरिक मिट्टी के दियों की जगह चाइनीज लाइटों ने ले ली है। ऐसे में कुम्हारों के लिए ये सबसे कठिन वक्त बन गया है।

diya3.pngdiya4.png

वहीं ट्विटर पर #PottersKiDiwali हैशटैग के जरिए यूजर्स ने कुम्हारों की सुध ली है। हमें चाइनीज लाइटों की जगह पर कुम्हारों द्वारा बनाए गए दियों को खरीदने पर जोर देना चाहिए। घरों में, दफ्तरों में या अन्य जगहों पर जलाने के लिए मिट्टी से बने दियों का इस्तेमाल करना चाहिए। देर है बस आपके शुरुआत करने की। साथ ही हम इन्हें जलाने के साथ-साथ गिफ्ट भी कर सकते हैं। लोगों ने इसको लेकर ट्विटर पर कई फोटो और अपनी प्रतिक्रियाएं शेयर की।