स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शर्मशार कर देगा अस्पताल का ये काम, मरीज के कटे पैरों को ही बना दिया तकिया

Shiwani Singh

Publish: Aug 25, 2019 12:27 PM | Updated: Aug 25, 2019 20:59 PM

Hot on Web

  • मरीज के कटे पैरों को ही बनाया गया तकिया
  • ट्रेन की चपेट में आने से व्यक्ति के कटे पैर
  • अस्पताल ने पार की संवेदनहीनता की सारी हदें

नई दिल्ली। मानव अपनी संवेदनशीलता के लिए जाना जाता है। पूरी सृष्टि में मानव की एकमात्र प्राणी है जिसे सोचने-समझने की शक्ति मिली है। अगर ये संवेदनाएं नहीं होतीं तो वह जानवर से कम नहीं होता। लेकिन बदलते दौर में यही सोचने-समझने वाला मनुष्य हैवान बनता जा रहा है। दिनों-दिन उसके अंदर से संवेदना खत्म होती जा रही है। यह घटना इस बात का जीता-जागता सबूत है। इसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे और ये सोचने लगेंगे कि ऐसा भी कोई कर सकता है क्या।

यह भी पढ़ें-कलेक्टर नहीं दे सका दूसरों को नौकरी तो खोल दिया अपना कैफे, ऐसे कर रहें लोगों की मदद

दरअसल, बड़खल फ्लाइओवर के पास एक व्यक्ति नई दिल्ली-मुंबई सेंट्रल राजधानी एक्सप्रेस की चपेट में आ गया। जिससे व्यक्ति को अपनी दोनों टांगे गंवानी पड़ीं। उसे इलाज के लिए गंभीर अवस्था में अस्पताल ले जाया गया। यहां इलाज क दौरान अस्पताल ने संवेदनहीनता की सारी हदें पार कर दीं।

खून से लथरथ मरीज को जब स्ट्रेचर पर इलाज के लिए आंदर लेजाया जा रहा था तब अस्पताल के स्टाफ ने मरीज के कटे पैरों को ही उसका तकिया बना दिया। मामला सामने आने के बाद हड़कंप मच गया। लेकिन जब इस बारे में अस्पताल प्रशासन से पूछा गया तो उन्होंने चुप्पी साध ली।

यह भी पढ़ें-पत्नी को था कैंसर, पति ने कराया ये फोटोशूट, तस्वीरें देखकर रोने लगे लोग

बता दें कि पीड़ित 42 वर्षिय प्रदीप एक फैक्ट्री में नौकरी करते हैं। वे रोज की तरह काम पर जाने के लिए बड़खल फ्लाईओवर के पास रेलवे लाइन पार कर रहे थे। इसी दौरान वे ट्रेन की चपेट में आ गए और उन्हें अपनी दोनों टांगे गंवानी पड़ीं। फिलहाल मरीज की गंभीर हालत को देखते हुए उसे ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया गया है।