स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

महाराष्ट्र में हिंदू मंदिरों को साफ करने के लिए जुटे 900 मुस्लिम, दिया भाईचारे का संदेश

Priya Singh

Publish: Aug 24, 2019 11:56 AM | Updated: Aug 24, 2019 11:56 AM

Hot on Web

  • बाढ़ की मदद के लिए मुस्लिम स्वयंसेवकों ने शुरू की अनोखी मुहिम
  • महाराष्ट्र के शहर इचलकरंजी के कई मंदिरों को मुस्लिम समुदाय के लोगों ने किया साफ

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में बाढ़ ज़िंदगियां निगलने को उतारू है। इस दुख की घड़ी में मीडिया चैनलों में वहां के हालत की पल-पल की खबर आ रही है। ख़बरों में बताया जा रहा है कि कौन से इलाके बाढ़ से प्रभावित हैं? जान-माल के क्या हालात हैं। अपने लोगों को खोने वाले लोगों की चीख पुकार बीते कुछ दिनों से मीडिया चैनलों में दिखाई जा रही है जो परेशान करने वाली है। वहीं इस दुविधा में कुछ ऐसी भी ख़बरें हैं जो दिल को सुकून देती हैं और बताती हैं कि इंसानियत अभी भी ज़िंदा हैं।

अंतिम सांस ले रही बेटी से पिता ने किया था नामुकिन वादा, पूरा करने के बाद आज हो रही है वाहवाही

hindu_temple.jpg

खबरों के मुताबिक, सांगली के पास महाराष्ट्र का शहर इचलकरंजी भीषण बाढ़ से पीड़ित है। यहां के मुस्लिम स्वयंसेवकों ने यहां के प्रसिद्ध मंदिरों को साफ करने की मुहीम चलाई है। इचलकरंजी वही जगह है जहां 10 साल पहले कई सांप्रदायिक दंगे हुए थे। गहरा ज़ख्म झेलने के बाद भी आज यहां के रहने वाले कठिन परिस्थिति में पीड़ित लोगों के साथ खड़े हैं।

महिला के कान से निकली जहरीली मकड़ी, काटने पर जा सकती थी जान

इस मुहिम से पता चला है कि इंसानों को स्वछता को सबसे ऊपर रखना चाहिए- अपने आस-पास की सफाई भगवान की पूजा करने के समान पवित्र है। साथ ही इस मुहिम से ये भी बात साफ़ हो जाती है कि इन स्वयंसेवकों ने हिंदू और मुस्लिम देवताओं के बीच भेदभाव नहीं किया।

पिता हुए पैरालिसिस के शिकार, पंक्चर ठीक कर परिवार चला रहीं 2 बहनें