स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अंकज्योतिष 19 अगस्त 2019: आज गणेश मंदिर में सफेद फूल की माला चढ़ाएं

Tanvi Sharma

Publish: Aug 18, 2019 13:53 PM | Updated: Aug 18, 2019 13:53 PM

Horoscope

अंकज्योतिष के अनुसार जानें कैसा रहेगा आपका आज का दिन

ज्योतिषाचार्य गुलशन अग्रवाल

अंक 01- धार्मिक आयोजनों में आपस में पटरी न बैठ पाने के कारण कार्यक्रमों से दूर होना पड़ सकता है। कानुनी मसलों में अपने पक्ष के कमजोर पड़ने के आसार नजर आते हैं।
अनुकूलता के लिए- हनुमानजी के पैरों में थोड़ा सा सिंदूर लगाएं।

अंक 02- स्थापित हो चुके व्यवसाय में एक निश्चित दायरे से बाहर निकलकर काम करने की जरूरत महसुस होगी। तेजी मंदी के व्यवसाय में अपने ज्ञान का समुचित उपयोग करें।
अनुकूलता के लिए- गोपालसहस्त्रनाम का पाठ करें।

अंक 03- जीवनसाथी की स्वास्थ्य संबंधी तकलीफों में पहले से ओर अधिक ईजाफा हो सकता है। कर्मचारियों के दुर्व्यवहार के कारण संस्थान के सतत लाभांष में कमी आ सकती है।
अनुकूलता के लिए- तुलसाजी की 5 परिक्रमा लगाएं।

अंक 04- अतिरिक्त धनलाभ के कारण पहले से चल रही मुसीबतों से निकालने में गुप्त हितेषी संकटमोचन का काम करेंगे। बचकानी हरकतों से वरिष्ठों के समुचित मदद से वंचित रहेंगे।
अनुकूलता के लिए- गणेश मंदिर में श्वेत पुष्प की माला चढ़ाएं।

अंक 05- नौकरी में पहले से चल रही बदलाव की कोशिशें वर्तमान में सफल होती दिखाई देगी व परिवर्तन करना हित में रहेगा। व्यवहारिक ज्ञान के समुचित उपयोग के मौके मिलने लगेंगे।
अनुकूलता के लिए- श्वेत अन्न का यथाशक्ति दान करें।

अंक 06- संस्थान के खर्च में रोक न लगा पाने से परेशानी में आएंगे। बच्चों के कारण चल रही व्यस्तता में कमी आएगी। व्यवसायिक प्रतिष्ठान में वाणी का प्रयोग कम से कम करें।
अनुकूलता के लिए- अनावश्यक सलाह न दें।

अंक 07- घरेलु जरूरतों को पुरा करने के चक्कर में नित्य पूजन कर्म को भी समय पर पूर्ण नहीं कर पाएंगे। नये-नये लोगों से मिलते रहने की आदत व्यापार में सहायक सिद्ध होगी।
अनुकूलता के लिए- देवी मंदिर में सुखे मेवे का भोग लगाएं।

अंक 08- बच्चों का अपने प्रति उद्ंडता पूर्वक व्यवहार भविष्य के प्रति चिंताओं को ओर अधिक बढ़ाएगा। तन व मन दोनों की स्वस्थता नये काम को करने के लिए प्रेरित करेगी।
अनुकूलता के लिए- यथासंभव भौतिक संसाधनों से दूर रहें।

अंक 09- जरूरत के समय व्यापार के लिए पूंजी की व्यवस्था न हो पाने के कारण मन पूरे समय विचलित रहेगा। कर्ज लेने-देने की प्रक्रिया में पूरी तरह पारदर्षिता रखने की जरूरत है।
अनुकूलता के लिए- प्रातःकाल कुछ देर प्रभु स्मरण करें।