स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Haryana Election 2019:विधानसभा चुनाव में हिस्सेदारी के लिए दबाव की राजनीति पर उतरा अकाली दल, भाजपा हाईकमान से मांगा बैठक को समय

Prateek Saini

Publish: Jun 19, 2019 17:45 PM | Updated: Jun 19, 2019 17:45 PM

Hisar

Haryana Election 2019: Akali Dal Haryana के नेताओं ने अमित शाह को लोकसभा चुनाव ( Lok Sabha Elections 2019 ) में किया गया वादा याद दिलाया है, दस सीटों पर जीत का श्रेय खुद को दिया...

 

(चंडीगढ़,हिसार): पंजाब में भाजपा के साथ गठबंधन को लेकर चल रही अटकलों के बीच शिरोमणि अकाली दल ( Shiromani Akali Dal ) एक बार फिर से हरियाणा में सक्रिय हो गया है। अकाली दल ने हरियाणा विधानसभा ( Haryana Election 2019 ) में अपनी हिस्सेदारी को लेकर भाजपा हाईकमान से मुलाकात के लिए समय मांग लिया है। अकाली दल ( Akali Dal Haryana ) के नेता हरियाणा में भाजपा के मुख्य सहयोगी के रूप में चुनाव लडऩा चाहते हैं।


हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव के दौरान शिरोमणि अकाली दल ने हरियाणा में लोकसभा चुनाव लडऩे का ऐलान किया था। जिसके चलते पार्टी ने अंबाला, सिरसा, कुरूक्षेत्र आदि जिलों में रैलियों का आयोजन करके कार्यकर्ताओं को एकजुट किया था। अकाली दल ने अंबाला व सिरसा लोकसभा क्षेत्रों से अपने प्रत्याशी उतारने की तैयारी भी कर ली थी। ऐन मौके पर भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ( Amit Shah ) ने अकाली दल सुप्रीमों प्रकाश सिंह बादल से मुलाकात करके उन्हें इस बात के लिए राजी कर लिया था कि लोकसभा में अकाली दल भाजपा की राह में रोड़ा बनने की बजाए भाजपा प्रत्याशियों का समर्थन करे और विधानसभा में भाजपा द्वारा उन्हें उचित मान-सम्मान दिया जाएगा। अब इसी मान-सम्मान का समय आ गया है। जिसके चलते बीती रात अकाली नेताओं की चंडीगढ़ में हुई बैठक में यह फैसला किया गया है कि हरियाणा विधानसभा में अकाली दल द्वारा भी अपने प्रत्याशी खड़े किए जाएंगे।


अकाली दल नेताओं ने भाजपा हाईकमान से मुलाकात के लिए समय मांग लिया है। सूत्रों की मानें तो अकाली दल का दावा है कि हरियाणा से 15 से 20 सिख बाहुल सीटों पर उनकी पकड़ मजबूत है। जबकि भाजपा उन्हें ठीक उसी तरह से हिस्सा देना चाहती है जैसे अकाली दल द्वारा पंजाब में भाजपा को हाशिए पर रखा जा रहा है। इस खींचतान के बीच अब हरियाणा में अकाली दल द्वारा विधानसभा चुनाव ( Haryana Assembly Election 2019 ) लडऩे का मुद्दा हाईकमान के पास पहुंच गया है। संभवत आने वाले दिनों में इस मुद्दे पर अकाली दल व भाजपा की संयुक्त बैठक होगी। जिसमें विधानसभा चुनाव के दौरान अकाली दल को सीटें दिए जाने पर फैसला लिया जाएगा।

 

 

 

बलविंदर सिंह भूंदड़
बलविंदर सिंह भूंदड़ IMAGE CREDIT:

लोकसभा चुनाव के दौरान भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के आश्वासन के बाद अकाली दल मैदान से हट गया था। अकाली दल ने लोकसभा चुनाव के दौरान भाजपा की पूरी मदद की है। जिसके बल पर दस सीटों पर जीत हासिल हुई है। अब अकाली दल द्वारा अमित शाह को प्रस्ताव दिया गया है कि हरियाणा भाजपा व अकाली दल की संयुक्त बैठक हाईकमान की मौजूदगी में करवाई जाए। जिसमें सीटों के आबंटन पर फैसला हो सके। अकाली दल हरियाणा में विधानसभा चुनाव लडऩे के लिए तैयार है। बलविंदर सिंह भूंदड़, सांसद एवं हरियाणा प्रभारी-शिरोमणि अकाली दल