स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हजारीबाग:भीषण सड़क दुर्घटना में 11 की मौत, 20 घायल, मृतकों में पिता-पुत्र भी शामिल

Prateek Saini

Publish: Jun 10, 2019 15:12 PM | Updated: Jun 10, 2019 15:12 PM

Hazaribagh

जीटी रोड पर दनुआ घाटी में हुई दुर्घटना ,मृतकों की संख्या बढ़ने की आशंका...

 

(हजारीबाग): झारखंड में हजारीबाग जिले के चौपारण थाना क्षेत्र के दनुआ घाटी में जीटी रोड पर सोमवार अहले सुबह भीषण सडक दुर्घटना हुई। इस दुर्घटना में 11लोगों की मौत हो गई है। वहीं 20 से अधिक अधिक लोग घायल हुए हैं। सभी घायलां को इलाज के लिए निकट के अस्पताल में भर्त्ती कराया गया है, एक दर्जन लोगों को रेफर किया गया है। वहीं मृतकों की संख्या में बढ़ोत्तरी होने की आशंका व्यक्त की जा रही है।

 

घटनास्थल पर पहुंचे चौपरण के अंचला अधिकारी धीरज कुमार ने बताया कि अहले सुबह करीब साढ़े तीन बजे रांची से बिहार के गया जा रही महारानी नामक निजी यात्री बस ने छड़ लदे ट्रेलर को पीछे से जोरदार टक्कर मार दी। इस हादसे में एक बच्चे समेत नौ लोगों की मौत हो गयी। बताया गया है कि जिस स्थान पर सड़क दुर्घटना हुई,वहां सड़क की स्थिति जर्जर थी और सड़क नीचे दब जाने के कारण बस चालक ने वाहन पर से नियंत्रण खो दिया और मौके पर ही आठ लोगों की मौत हो गयी। तीन अन्य व्यक्ति की मौत इलाज के लिए अस्पताल ले जाने के क्रम में हुई। वहीं घटना में 24 अन्य लोग घायल हो गये है, जिन्हें अस्पताल में भर्त्ती कराया गया है। मृतकों की संख्या में बढ़ोत्तरी की आशंका जतायी गयी है।

 

हादसे में कई यात्रियों के शव बस में फंस गये ,जिन्हें काफी मुश्किल से बाहर निकाला जा सका। वहीं घटना के बाद चीख-पुकार से पूरा इलाका गूंज उठा। स्थानीय लोगों की मदद से पुलिस ने सभी घायलों को इलाज के लिए भर्त्ती कराया गया। वहीं प्रशासन की ओर से भी एंबुलेंस और अस्पताल में डॉक्टरों की विशेष टीम को तुरंत
बुलाया गया। अस्पताल में भी घायल मरीजों और उनके परिजनों के चीख-पुकार से अफरा-तफरी की स्थिति बनी रही। गंभीर रूप से घायल यात्रियों को बेहतर इलाज के लिए रेफर कर दिया गया।

 

बताया गया है कि सड़क की स्थिति जर्जर रहने के कारण छड़ लदा खराब ट्रेलर बीच में ही खड़ा था और अंधेरे के कारण बस चालक जब तक ट्रेलर को देख पाता, तब तक यात्री बस ट्रेलर से जा टकरायी। यह भी आशंका जतायी जा रही है कि बस चालक को झपकी आने के कारण यह हादसा हुआ।

 

मृतकों में अधिकांश बिहार के गया जिले के लोग हैं। मृतकों में गुमला और रांची के लोग भी शामिल हैं।

मृतकों के नाम
1.शिव शंकर प्रसाद, रांची, 2. भारती देवी,गया, 3.संतन विश्वकर्मा -चालक ,गया,4. उपेंद्र कुमार-गया, 5.आदित्य राज-गया,6.बंधनी देवी भरनो ,गुमला, 7 एग्निसियास गिद ,गया, 8 योगेंद्र शर्मा -उपचालक, 9 ज्ञानेश्वर प्रसाद गया, 10. संजीव सिंह ,गया, 110 रामानंद पासवान, गया निवासी थे। उपेंद्र और आदित्य पिता पुत्र थे।

हादसे की खबर मिलने पर हजारीबाग के उपायुक्त रविशंकर शुक्ला और पुलिस अधीक्षक मयूर पटेल सदर अस्पताल में घायलों का हाल जानने के बाद चौपारण दनुआ-भनुआ घाटी घटनास्थल पहुंचे। दुर्घटना की बाबत दो बातें सामने आ रही हैं। एक तो बस का ब्रेक फेल, जो उस बस में बैठा घायल यात्री वीडियो में बयान दे रहा है। दूसरी एक बात यह भी सामने आ रही है कि चालक को झपकी लग गई थी। प्रशासन इस मामले की छानबीन में जुटी है कि आखिर हादसे का सच क्या है।