स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

प्रेमिका के धोखे से आहत युवक ने ट्रेन के आगे कूदकर दी जान, आत्महत्या से पहले प्रेमिका के साथ फोटो और सुसाइड नोट किए वायरल...

suchita mishra

Publish: Sep 19, 2019 11:35 AM | Updated: Sep 19, 2019 12:07 PM

Hathras

सुसाइड नोट में किया प्रेमिका से मिले धोखे का जिक्र। लिखा मरने के बाद कुछ भी करना, लेकिन लोगों को बता देना कि में निर्दोष था।

हाथरस। मथुरा के थाना यमुनापार क्षेत्र के गांव सिहोरी निवासी एक युवक ने प्रेमिका के धोखे से आहत होकर हाथरस जंक्शन के पास ट्रेन के सामने कूदकर आत्महत्या कर ली। आत्महत्या से पहले युवक ने अपनी प्रेमिका के साथ फोटो और सुसाइड नोट को सोशल मीडिया पर वायरल किया। युवक के खिलाफ प्रेमिका व उसके परिजनों ने मथुरा के थाना यमुनापार में शिकायत की थी। इस बात से क्षुब्ध होकर वो मंगलवार को घर से निकल आया था। परिजन उसकी तलाश कर रहे थे। बुधवार दोपहर को उसने हाथरस जंक्शन के निकट ट्रेन के आगे कूदकर अपनी जान दे दी।

थाने में शिकायत होने से था आहत
मथुरा के गांव सिहोरा निवासी 24 वर्षीय ओमप्रकाश पुत्र चंद्रभान सिंह और गांव की ही युवती लक्ष्मी के बीच चार वर्षों से प्रेम संबन्ध थे। कुछ समय पहले लड़की के परिजनों को इसकी भनक लग गई तो उन्होंने युवती का घर से निकलना बंद करवा दिया। 17 सितंबर को युवती के परिजन उसे लेकर यमुनापार कोतवाली पहुंच गए और ओमप्रकाश के खिलाफ परेशान करने व गलत काम करने का आरोप लगाया। इसके बाद पुलिस ओमप्रकाश के घर भी पहुंची। थाने में शिकायत व घर पर पुलिस के आने से ओमप्रकाश बुरी तरह आहत हुआ और मंगलवार को ही घर से कहीं चला गया। घरवाले उसकी तलाश करते रहे, लेकिन वो नहीं मिला और न ही उसका फोन लगा।

आधार कार्ड से हुई पहचान
बुधवार की दोपहर तीन बजे ओमप्रकाश ने हाथरस जंक्शन रेलवे स्टेशन के पास ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या कर ली। उसके बैग में एक कॉपी और आधार कार्ड मिला, जिससे उसकी पहचान हुई और परिजनों को सूचना दी गई। कॉपी में उसने सुसाइड नोट लिखे थे। मौत से पहले ओमप्रकाश ने इन सुसाइड नोट और लक्ष्मी के साथ अपने कुछ फोटो को अपनी फेसबुक आईडी पर भी पोस्ट किया था।

सुसाइड नोट में किया धोखे का जिक्र
सुसाइड नोट में ओमप्रकाश ने लिखा, प्रिय लक्ष्मी मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं और करता रहूंगा। मैंने हमेशा तुझसे कहा कि तेरे 18 साल के हो जाने पर ही तुझसे शादी करूंगा। लेकिन तूने मुझे धोखा दिया। फिर भी मुझे कोई अफसोस नहीं है। मुझे मालूम है कि तू थाने जाने के लिए सहमत नहीं थी, तुझे जबरदस्ती लाया गया। मेरे मरने के बाद कुछ भी करना, लेकिन एक बात सबको बता देना कि ओमप्रकाश निर्दोष था।

युवक के परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप
ओमप्रकाश की मौत को लेकर उसके परिजनों ने हत्या की आशंका जताई है। उनका आरोप है लड़की के परिजनों पर हत्या कर शव रेलवे ट्रैक पर डाल दिया है। हालांकि देर रात तक इस मामले में कोई तहरीर नहीं दी। फिलहाल जीआरपी चौकी पुलिस ने ओमप्रकाश के शव को पोस्टमार्टम के लिए अलीगढ़ भेजा है।