स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

World Sight Day 2019 आंखों में है ये समस्या तो हो जाएं सावधान, अंधता के आंकड़े जान रह जाएंगे हैरान

Amit Sharma

Publish: Oct 10, 2019 19:18 PM | Updated: Oct 10, 2019 19:18 PM

Hathras

दृष्टि हानि और अंधापन जैसी आंखों की गंभीर समस्या के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए दृष्टि दिवस (World Sight Day) मनाया जाता है।

हाथरस। हर साल अक्टूबर महीने के दूसरे गुरुवार के दिन की तरह अंधता नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत आज "विश्व दृष्टि दिवस" (World Sight Day) के अवसर पर कैंप का आयोजन किया गया। इस कैंप का उद्घाटन जिलाधिकारी द्वारा किया गया। दिवस की थीम "विजन फर्स्ट" रही।

यह भी पढ़ें- तीन तलाक: यूपी में हुई पहली गिरफ्तारी, आरोपी भेजा जेल

आयोजन में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ बृजेश राठौर, एसीएमओ डॉ मधुर कुमार, अंधता नियंत्रण कार्यक्रम नोडल डॉ सन्तोष कुमार, जिला स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी सुचिका सहाय व अन्य स्टाफ उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें- तहसील में लगाने होंगे चक्कर, इस सॉफ्टवेयर के जरिए होगा शिकायतों का निदान

दृष्टि हानि और अंधापन जैसी आंखों की गंभीर समस्या के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए दृष्टि दिवस मनाया जाता है। आंखें हमारे शरीर का सबसे नाज़ुक और ज़रूरी अंग हैं, इसलिए इस बात का ख्याल रखना बेहत ज़रूरी है कि ये अच्छी तरह काम करें।

यह भी पढ़ें- भाजपा नेता के अपहरण की सूचना से पुलिस के उड़े होश, जानिए पूरा मामला

आंखों की समस्या के लक्षण

1. धुंधलापन और साफ न दिखना

2.आंखों में या उसके आसपास दर्द, सूजन या खुजली

3. आंखों में जलन और लाल होना

4. आंखों के आगे छोटे धब्बे या कुछ उड़ता हुआ दिखना

दृष्टि दोष किसी भी समय किसी को भी प्रभावित कर सकता है, लेकिन सबसे कमजोर आबादी छोटे बच्चों, बुजुर्गों और मधुमेह वाले लोगों की है।

दुनिया भर से कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

36 मिलियन लोग अंधे हैं।

217 मिलियन लोग मध्यम या गंभीर दूरी की दृष्टि हानि के साथ रहते हैं।

1 बिलियन लोगों के पास निकट दृष्टि दोष है।

मध्यम या गंभीर रूप से दृष्टिहीन लोगों में से 55% महिलाएं हैं।

दृष्टिहीनता और दृष्टि दोष की संयुक्तता 1990 में 4.58% से घटकर 2015 में 3.37% हो गई है।

हमारी दृष्टि में सुधार और सुरक्षा के छह तरीके हैं:

नियमित रूप से आंखों की जांच करवाएं - हर दो साल में 70 साल की उम्र और उसके बाद।

पुरानी स्वास्थ्य समस्याएं जैसे मधुमेह और उच्च रक्तचाप आपकी दृष्टि को चोट पहुंचा सकते हैं।

स्वस्थ आहार खाएं - एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर खाद्य पदार्थ मोतियाबिंद और उम्र से संबंधित धब्बेदार अध: पतन (एएमडी) के खतरे को कम कर सकते हैं।

धूम्रपान करना बंद करें

आंखों की बूंदों का उपयोग करें - परिरक्षक रहित कृत्रिम आँसू सूखी आंखों वाले लोगों के लिए दृष्टि को कम धुंधला बना सकते हैं।

आंखों की सुरक्षा का उपयोग करें - जब बाहर की ओर, धूप का चश्मा पहनें जो पराबैंगनी (यूवी) किरणों को छानते हैं,जरूरत पड़ने पर घर पर या काम पर सुरक्षा चश्मा पहनकर चोट से बचाव कर सकते हैं।