स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

National Mouth Cleanliness Day : गर्भावस्था मुख की स्वच्छता का रखें विशेष ध्यान, पड़ सकता है खतरनाक असर

Ruchi Sharma

Publish: Aug 02, 2019 16:55 PM | Updated: Aug 02, 2019 17:41 PM

Hardoi

मुख की स्वच्छता शरीर के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है

लखनऊ. राष्ट्रीय मुख स्वच्छता दिवस (ओरल हाइजीन डे) के अवसर पर सरस्वती डेंटल कॉलेज के पेरिओडोन्टोलॉजी विभाग में मुख स्वच्छता के आधुनिक तरीकों व साधनों से अवगत कराया गया। इस अवसर पर डेंटल कॉलेज के चिकित्सको, कर्मचारियों व बी डी एस तथा एम डी एस कर रहे विद्यार्थियों ने बड़ी संख्या में रूचि दिखते हुए आयोजित पोस्टर कॉम्पटीशन में हिस्सा लिया। जिसका विषय था मुख स्वच्छता का शरीर पर प्रभाव।

विभागाध्यक्ष डॉ विवेक बेंज ने बताया कि मुख की स्वच्छता शरीर के स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है। गर्भावस्था में मुख की स्वच्छता का अगर ध्यान न रखा जाए तो इसका सीधा असर होने वाले बच्चे के स्वास्थ्य पे पड़ सकता है। आधुनिक अनुसन्धान इस बात की पुष्टि करते है कि मुख की स्वछता मधुमेह नियंत्रण (डायबिटीज कण्ट्रोल),हृदय रोग,गठिया ,स्वशन सम्बंधित बीमारियों ,ओरल कैंसर इत्यादि से सीधा सम्बंधित है इसलिए मुख का स्वच्छ रहना शरीर के स्वस्थ रहने के लिए ज़रूरी है।

सहायक आचार्य डॉ हिमांगी दुबे ने मौखिक स्वच्छता, रख रखाव और परिओडोन्टल स्वास्थ्य के लिए गाइड करते हुए कहा कि दांतों को ब्रश से साफ करने और फ्लॉसिंग के अलावा, जीभ को भी साफ करना चाहिए। बहुत से लोग इसे ज़रूरी नहीं मानते, लेकिन जीभ पर बहुत अधिक ओरल बैक्टीरिया पैदा होते हैं। इसीलिए दांतों को केवल ब्रश से साफ करना पर्याप्त नहीं होगा। इससे भी महत्वपूर्ण बात, नियमित डेंटल चेकअप भी कराएं| ब्रशिंग और फ्लॉसिंग 2 सबसे महत्वपूर्ण ओरल हेल्थ से जुड़ी आदतें हैं जिन्हें आपको हर दिन दोहरानी चाहिए। फ्लॉसिंग एक महत्वपूर्ण आदत है क्योंकि यह दांतों की दरारों में फंसने वाले भोजन के कणों को दूर करने में मदद करता है और यह टूथब्रश से और अंदर धंस जाता है या साफ नहीं हो सकता।ज़रूरी है कि बच्चों को भी ओरल हाइजिन की अच्छी आदतें और उसका महत्व समझाया जाये।