स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यह विधायक दे सकते हैं इस्तीफा, एफआईआर दर्ज होने के बाद सीएम योगी से करेंगे मुलाकात

Abhishek Gupta

Publish: Jun 16, 2019 16:25 PM | Updated: Jun 16, 2019 16:25 PM

Hardoi

लोकसभा चुनाव के बाद यूपी में सांसद बने विधायकों ने विधानसभा से अपना इस्तीफा दे दिया है, वहीं अब बिलग्राम-मल्लावां से भाजपा विधायक आशीष सिंह आशू भी इस्तीफा दे सकते हैं।

हरदोई. लोकसभा चुनाव के बाद यूपी में सांसद बने विधायकों ने विधानसभा से अपना इस्तीफा दे दिया है, वहीं अब बिलग्राम-मल्लावां से भाजपा विधायक आशीष सिंह आशू भी इस्तीफा दे सकते हैं। वजह नगर पालिका अध्यक्ष अंकित जायसवाल के साथ बवाल के बाद दर्ज हुई एफआईआर। आशीष सिंह आशू और नौ नामजद व दो सौ अज्ञात लोगों के खिलाफ घर में घुसकर तोड़फोड़, जानलेवा हमला कर लूटपाट करने के आरोप में नगर पालिका अध्यक्ष ने पुलिस में मामला दर्ज कराया है। वहीं विधायक की ओर से भी नगर पालिका अध्यक्ष के खिलाफ एफआईआर कराई गई है। बताया जा रहा है कि अपने समर्थकों के उत्पीड़न से नाराज होकर बीजेपी विधायक आशीष सिंह इस्तीफे की पेशकश कर सकते हैं। यदि ऐसा हुआ तो वर्ष के अंत में होने वाले उपचुनाव अब 12 नहीं बल्कि 13 सीटों पर होंगे।

ये भी पढ़ें- नीति आयोग बैठक: 10 बिंदुओं में सीएम योगी ने पीएम मोदी व मंत्रिमंडल के सामने रखीं बड़ी बातें

brawl

यह है पूरा मामाला-
मल्लावां चौराहा पर शुक्रवार की देर शाम पालिकाध्यक्ष और विधायक समर्थकों के बीच जमकर मारपीट, पथराव और फायरिंग हो गई थी। जिसके बाद बवाल ने विक्राल रूप ले लिया है। पूरी रात बवाल मचा रहा और आखिरकार दोनों पक्षों की ओर से एफआइआर दर्ज कराई गई। पालिकाध्यक्ष अंकित जायसवाल ने दर्ज कराई एफआईआर में बताया कि शुक्रवार शाम वह अपने आवास के बाहर जनसमस्याएं सुन रहे थे, तभी विधायक आशीष सिंह आशू अपने तमाम साथियों व दो अज्ञात लोगों के साथ वैध व अवैध असलाह लेकर वहां पहुंचे और उनके घर को चारों ओर से घेर लिया। उन पर फायरिंग हुई। घर में घुसकर महिलाओं से अभद्रता की गई व कीमती सामान को वे सब लूट कर भाग निकले।

ये भी पढ़ें- अखिलेश-शिवपाल में समझौते को लेकर आई बड़ी खबर, यह 5 बड़ी बातें आई सामने

वहीं दूसरी तरफ से देवनपुर निवासी हिमांशू पटेल ने दर्ज कराई गई एफआईआर में बताया कि शुक्रवार की शाम वह अपने साथी प्रदीप कुमार के वाहन से कुछ साथियों संग मल्लावां चौराहा पर कोल्ड ड्रिंक पीने आया था। उसी समय सिद्धार्थ उर्फ सिद्धू पानी का गिलास लेकर आए और गाड़ी पर फेंक दिया। जब उन्होंने इसकी वजह पूछी तो गाली देते हुए लड़ाई करने लग और अपने भाइयों अंकित जायसवाल, विशाल जायसवाल, रोहित राणा, राहुल शर्मा, हाजी जलालुद्दीन, इंद्रपाल वर्मा, राजभान ङ्क्षसह व अन्य तमाम लोगों को बुला लिया। इसमें अंकित, इंद्रपाल और हाजी जलालुद्दीन ने अपनी लाइसेंसी राइफल से जान से मारने की नीयत से गोली चला दी। इस दौरान ईटा पत्थर चले और फायरिंग भी हुई।

ये भी पढ़ें- सांसद बनने के बाद मेनिका गांधी का यह पहला बड़ा काम हुआ पूरा, हर ओर हो रही तारीफ

brawl

पुलिस ने इन लोगों के लिए हिरासत में-

पुलिस ने दोनों तरफ से एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। शुक्रवार की रात ही पुलिस ने 24 लोगों को हिरासत में ले लिया था। पालिकाध्यक्ष के कब्जे से तमंचा और तलाशी के दौरान बंदूक व कारतूस बरामद किया था। इस बवाल के बाद इलाके में काफी सनसनी फैल गई थी। कस्बे में पुलिस फोर्स लगा दिया गया है।

ये भी पढ़ें- 12 सीटों पर उपचुनाव को लेकर कांग्रेस महासचिव ने की बड़ी घोषणा, प्रियंका गांधी को सीएम चेहरा बनाए जाने पर कही बड़ी बात

दे सकते हैं इस्तीफा-

 

मीडिया में छपी खबरों के मुताबिक हरदोई बिलग्राम मल्लावां से बीजेपी विधायक आशीष सिंह आशु नेड्रामा, अपने ऊपर लगाए गए मुकदमो को लेकर विधायक सीएम योगी से मिलकर इस्तीफा देने की पेशकश कर सकते हैं पेशकश। यदि उनका इस्तीफा कुबूल होता है कि 12 की बजाए 13 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होगा। लखनऊ कैंट, फिरोजाबाद की टुंडला सु., कानपुर की गोविंदनगर, प्रतापगढ़ सदर, कैराना की गंगोह, चित्रकूट की मानिकपुर, बाराबंकी की जैदपुर सु., बहराइच की बलहा सु., अलीगढ़ की इगलास, रामपुर सदर व अम्बेडकरनगर की जलालपुर विस सीटें इसमें शामिल हैं।