स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

यूपी में दलित युवक की जिंदा जलाकर बेरहमी से हत्या, सदमे से मां की भी हो गई मौत, पुलिस में हड़कंप

Abhishek Gupta

Publish: Sep 15, 2019 20:52 PM | Updated: Sep 15, 2019 20:52 PM

Hardoi

यूपी के हरदोई में दिल दहलाने वाला मामला प्रकाश में आया है। कोतवाली शहर क्षेत्र में दबंगों ने एक दलित बिरादरी के युवक को जिंदा जला दिया।

हरदोई. यूपी के हरदोई में दिल दहलाने वाला मामला प्रकाश में आया है। कोतवाली शहर क्षेत्र में दबंगों ने एक दलित बिरादरी के युवक को जिंदा जला दिया। युवक को गंभीर हालत में अस्पताल भेजा गया, जहां उसकी मौत हो गई। घटना की जानकारी के बाद पहले से ही अस्पताल में भर्ती युवक की बीमार मां की भी सदमे से मौत हो गई।

कोतवाली शहर क्षेत्र के भदैंचा गांव में शनिवार की रात अनुसूचित जाति के एक युवक को घर में बंद कर ज्वलनशील पदार्थ डालकर उसे जिंदा जला दिया गया। गंभीर रूप से झुलसे युवक को पुलिस ने जिला अस्पताल पहुंचाया, लेकिन रास्‍ते में उसकी मौत हो गई। वहीं बेटे की मौत की खबर सुनते ही बीमार मां ने सदमे में दम तोड़ दिया। परिवारजनों ने इसपर रंजिशन घर में बंधक बनाकर जिंदा जलाने का आरोप लगाया है, लेकिन पुलिस घटना का कारण प्रेम प्रसंग बता रही है। तहरीर के आधार पर एफआइआर दर्ज कर आरोपित दंपती समेत तीन को हिरासत में ले लिया गया है।

ये भी पढ़ें- अखिलेश सरकार ने दिया था अनुदान, नौकरी छोड़कर आज कमा रहा यह शख्स लाखों रुपए, मिल चुका है पुरस्कार

यह है पूरा मामला-
भदेचा गांव निवासी मोनू (30) पुत्र मिथिलेश खेतीबाड़ी करता था। उसकी मां रामबेटी की शनिवार की रात तबियत खराब हो गई थी। परिवारजन उन्हें जिला अस्पताल लेकर गए थे। मोनू गांव में ही था। आधी रात बाद उसे गांव निवासी राधे गुप्ता के घर में पेट्रोल डालकर जला दिया गया। सूचना पर पुलिस पहुंची तो देखा कि मोनू कमरे में गंभीर रूप से झुलसा पड़ा है। आनन-फानन उसे जिला अस्पताल पहुंचाया गया। लेकिन उसने दम तोड़ दिया।

मां की हुई मौत-

अस्पताल में भर्ती रामबेटी ने मोनू के जलाने की खबर सुनी तो उनकी हालत और खराब हो गई। चिकित्सकों ने उन्हें लखनऊ रेफर कर दिया, लेकिन इस दौरान उनकी मौत हो गई। मोनू के चाचा अजयपाल ने राधे गुप्ता उनकी पत्नी डाली गुप्ता व एक अन्य के साथ ही गांव के ही सत्यम सिंह व शिखर सिंह पर आरोप लगाया है।

ये भी पढ़ें- लोहिया अस्तपाल में हुआ जोरदार धमाका, मची हफरा-तफरी, मरीजों की जान पर बनी आफत

पेट्रोल डालकर लगाई आग-

उनका कहना है कि मोनू अपनी मां को लखनऊ ले जाने के लिए गांव से रुपये लेने गया था। आरोपित घर के बाहर बैठे थे, उसे देखकर गाली गलौज करने लगे। लेकिन विरोध करने पर घर में खींच ले गए। साथ ही उसके पास मौजूद 25 हजार रुपये छीन लिए और उसे पेट्रोल डालकर आग लगा दी।

पुलिस ने कहा- प्रेम प्रसंग का हो सकता है मामला-

वहीं पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी ने प्रेम प्रसंग का मामला होने की जानकारी देते हुए कहा कि मामले के सभी बिंदुओं पर जांच कर नियमानुसार कार्यवाही की जा रही है।